Browsing Tag

गुस्ताखी माफ़

गुस्ताखी माफ़ – कहीं पे निगाहें, कही पर निशाना….फील गुड में चल ही रहा है काम…आखिर…

कहीं पे निगाहें, कही पर निशाना इ न दिनों महू की विधायक और मंत्री उषा दीदी के बोले शब्द बाजार में घूमना शुरू हो गए हैं। उन्होंने इस बार बड़ी अदावत से क्षेत्र के कार्यकर्ताओं से फिर कहा कि वह तो अपने पुराने क्षेत्र में वापस जाना चाहती हैं।…
Read More...

गुस्ताखी माफ़: बावलों-उतावलों में चल पड़ी है श्रेय की राजनीति…

बावलों-उतावलों में चल पड़ी है श्रेय की राजनीति... भाजपा में इन दिनों काम और पराक्रम की राजनीति की बजाय श्रेय लेने की होड़ के चलते अब उतावलों और बावलों की राजनीति के दर्शन रोज करने पड़ते हैं। विषय की पूरी जानकारी और पूरी तरह अनुभवी लोगों से…
Read More...

गुस्ताखी माफ़-विमानतल पर एक निगाह के तलबगार रहे नेता

विमानतल पर एक निगाह के तलबगार रहे नेता कल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के महाकाल लोक के लोकार्पण को लेकर इंदौर में विमानतल पर जब आगमन हुआ तो भाजपा के कई दिग्गज नेता कतारबद्ध खड़े थे। सबकी निगाहें प्रधानमंत्री की कातर निगाहों पर टिकी हुई थी।…
Read More...

गुस्ताखी माफ़…- भिया ऐसे ही कार्यकर्ताओं के नाड़ी वैद्य नहीं कहलाते…भगत और भक्ति का…

गुस्ताखी माफ़... भिया ऐसे ही कार्यकर्ताओं के नाड़ी वैद्य नहीं कहलाते... राजनीति में फूंक-फूंक कर कदम रखना एक कुशल नेता के लिए जरुरी होता है और वह कदम नहीं भी रखे तो फूंकते रहना हर समय जरुरी होता है और यदि समय रहते हुए फूंकने से चूक जाओ…
Read More...

गुस्ताखी माफ़- घर बिठाए भाजपाइयों का महाकुंभ…

गुस्ताखी माफ़ घर बिठाए भाजपाइयों का महाकुंभ... शुचिता-संस्कार की भाजपा के कई संस्कारी नेता जो नई रणनीति और नए संस्कारों के कारण या तो घर बैठ गए हैं या बैठा दिए गए हैं। कोई पूछपरख अब होने की संभावना नहीं दिख रही है। ऐसे नेताओं की उम्र भी…
Read More...

गुस्ताखी माफ़: भाजपा तीरथ एक बार…

भाजपा तीरथ एक बार... पिछले दिनों क्षेत्र क्रमांक एक के विधायक संजू बाबू ने अपनी तीरथ यात्रा प्रधानमंत्री को क्या समर्पित कर दी, सारे समीकरण ऊपर-नीचे हो गए। कांग्रेसियों का मानना है कि यह तो होना ही है। वैसे भी महापौर चुनाव के बाद अपने ही…
Read More...

गुस्ताखी माफ़- अब मिठास कड़वी हुई…चलने लायक नहीं रहे…

अब मिठास कड़वी हुई... (गुस्ताखी माफ़) नए-नए महापौर अब धीरे-धीरे शहर के नेताओं को समझने में सफल हो रहे हैं। ऐसे में उन्होंने अब कुछ नेताओं से अपनी दूरी बनाना शुरू कर दी है। जहां पहले रिश्तों की चाशनी ऐसी गाढ़ी दिखाई देती थी कि लोगों को लगता…
Read More...

गुस्ताखी माफ़-जमीनी नेता अब जमीन पर दिखाई देंगे, अपनों ने ही आग लगाई…जलवा पूजन बंद…हिसाब…

जमीनी नेता अब जमीन पर दिखाई देंगे इन दिनों भाजपा के जीते और हारे नेताओं के मन में अगले विधानसभा चुनाव को लेकर भले ही लड्डू फूट रहे हों, रात को विधायक होने के सपने आ रहे हों, पर इस बार जो समीकरण संगठन स्तर पर बन गए हैं, वह बता रहे हैं…
Read More...

गुस्ताखी माफ़: दूध से जले नहीं पर छाछ भी फूंक-फूंक कर पी रहे हैं…बड़े फेरबदल के साथ उतरेंगे नए…

दूध से जले नहीं पर छाछ भी फूंक-फूंक कर पी रहे हैं... अंतत: महापौर परिषद में विभागों की रेवड़ी बंट ही गई। लम्बी खींचतान और ज्ञान धरा रह गया, परंतु अभी भी महापौर हर कदम फूंक-फूंक कर रख रहे हैं। इसका कारण यह है कि पुराने महापौर जितने भी रहे…
Read More...