lok sabha election 2024: मोदी के खिलाफ केजरीवाल अकेले दम पर लड़ेंगे

लोकसभा चुनाव 2024 : गठबंधन की अटकलों पर लगा विराम

(lok sabha election 2024) नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के निर्वाचित प्रतिनिधियों के पहले राष्ट्रीय सम्मेलन में पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने 2024 के आम चुनाव के लिए पिच तैयार की। साथ ही इस बात के भी संकेत दिए कि विपक्ष के किसी गठजोड़ में शामिल होने का इरादा नहीं है। पार्टी का पूरा फोकस फिलहाल गुजरात विधानसभा चुनाव पर है।

modi and kejriwal
modi and kejriwal

आम आदमी पार्टी खुद को बीजेपी के विकल्प के तौर पर पेश कर रही है। अरविंद केजरीवाल ने रविवार पार्टी के सदस्यों से मेक इंडिया नंबर 1 अभियान के माध्यम से भारत के 130 करोड़ नागरिकों का गठबंधन बनाने पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहा। उन्होंने दावा किया कि गुजरात में आप की बढ़ती लोकप्रियता ने भाजपा को झकझोर कर रख दिया है।

Also Read – राष्ट्रहित में फैसले लेने वाले जननेता Narendra Modi की लोकप्रियता बढ़ी
पंजाब में जीत के बाद आम आदमी पार्टी दूसरे राज्यों में भी चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुकी थी। गुजरात चुनाव के लिए पार्टी ने पूरा जोर लगाया हुआ है। आम आदमी पार्टी कांग्रेस की जगह बीजेपी के खिलाफ मुख्य विकल्प के तौर पर अपनी जमीन तैयार कर रही है और पार्टी नेताओं की ओर से भी बार- बार यह कहा जा रहा है कि वो ही विकल्प है। दिल्ली में आयोजित निर्वाचित प्रतिनिधियों के पहले राष्ट्रीय सम्मेलन में रविवार भी यही देखने को मिला। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 2024 के लोकसभा चुनाव के संबंध में आप की रणनीति के बारे में सवाल पूछे जाते हैं। मुझे जोड़-तोड़ (गठबंधन और ब्रेक-अप) का गणित समझ में नहीं आता है।

आम आदमी पार्टी के निशाने पर बीजेपी थी

अगले लोकसभा चुनाव में विपक्ष का चेहरा कौन होगा यह सवाल बना हुआ है। बिहार के सीएम नीतीश कुमार, बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का नाम चर्चा में आता है। इन सबके बीच आम आदमी पार्टी की कोशिश है कि पार्टी बीजेपी से सीधी लड़ाई लेती हुई दिखे।

अरविंद केजरीवाल के निशाने पर बीजेपी

lok sabha election 2024
lok sabha election 2024

अरविंद केजरीवाल ने राष्ट्रीय सम्मेलन में कहा कि भ्रष्टाचार के झूठे मामलों में फंसाकर आप को कुचलने की पूरी कोशिश बीजेपी कर रही है। रेवड़ी कल्चर की टिप्पणी पर प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ्र्रक्क की मुफ्त सुविधाओं की यह कहकर आलोचना की जा रही है कि लोगों को नि:शुल्क सुविधाएं उपलब्ध कराने से देश की अर्थव्यवस्था बर्बाद हो जाएगी। दिल्ली का उदाहरण देते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यहां पर फ्री की सेवाएं हैं लेकिन यहां पर सरकार के ऊपर कोई बोझ नहीं है। कोई बेईमान, भ्रष्ट और गद्दार व्यक्ति ही यह कहेगा कि नि:शुल्क सुविधाएं देश के लिए सही नहीं हैं। अगर कोई नेता कहता है कि मुफ्त सुविधाएं देने से देश की अर्थव्यवस्था बर्बाद हो जाएगी तो आपको समझना होगा कि उनके इरादे गलत हैं।

(lok sabha election 2024)

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.