kuno national park: भारत की धरती पर 74 साल के बाद 8 चीतों की लैंडिंग

मोदी ने कूनो-पालपुर नेशनल पार्क में छोड़ा

narendra modi
narendra modi

 

(kuno national park) नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आज जन्मदिन है। इस मौके पर पीएम मोदी नामीबिया से आए चीतों को मध्य प्रदेश के कूनो-पालपुर अभायरण्य में बने क्वारंटाइन बाड़ों में छोड़ा। इसके साथ ही पीएम मोदी स्व-सहायता समूह सम्मेलन में भी शिरकत करेंगे। प्रधानमंत्री की अगवानी करने महामहिम राज्यपाल मंगू भाई पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित बड़े संख्या में नेता और कार्यकर्ता पहुंचे।

एयरपोर्ट पर चीतों को लेकर आए अफ्रीका के दल से नागरिक उड्यन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुलाकात की। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आज जन्मदिन है। इस मौके पर पीएम मोदी नामीबिया से आ रहे चीतों को मध्य प्रदेश के कूनो-पालपुर नेशनल पार्क में बने क्वारंटाइन बाड़ों में छोड़ेंगे। इसके साथ ही पीएम मोदी स्व-सहायता समूह सम्मेलन में भी शिरकत करेंगे। जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी लगभग आधा घंटे तक कूनो नेशनल पार्क में रुकेंगे। नामीबिया से 8 चीते भारत आ गए हैं। जिस विशेष विमान से उन्हें लाया जा रहा था, वह ग्लावियर एयरपोर्ट पर लैंड हो गया है। अब इन्हें यहां से हेलिकॉप्टर से कूनो नेशनल पार्क ले जाया जाएगा।

Also Read – inflation rate in india: महंगाई ने कमर तोड़ी

मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश के लिए सौभाग्य का अभूतपूर्व दिन है. अपने जन्मदिन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोद स्वयं इस पुण्यधरा पर उपस्थित रहकर देश में चीते की बसाहट का शुभारंभ करेंगे. प्रदेश के नागरिकों की ओर से आभार प्रकट करता हूं. मध्यप्रदेश पीएम मोदी के स्वागत के लिए उत्सुक है।

kuno national park
kuno national park

नामीबिया में भारत के उच्चायुक्त प्रशांत अग्रवाल ने कहा कि यह वास्तव में एक बहुत ही खास क्षण है। जब ये चीते भारत के लिए उड़ान भरी। हम आज यहां बन रहे इतिहास के साक्षी बन रहे हैं। 8 चीतों में पांच मादा और तीन नर हैं।

इन्हें नामीबिया से ‘प्रोजेक्ट चीता’ के तहत भारत लाया जा रहा है.

https://twitter.com/search?q=kuno+national+park&ref_src=twsrc%5Egoogle%7Ctwcamp%5Eserp%7Ctwgr%5Esearch

 इससे बड़ा तोहफा नहीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कूनो जाने से पहले विशेष विमान से दिल्ली से ग्वालियर पहुंचे। यहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा और राज्यपाल मंगूभाई पटेल ने उन्हें रिसीव किया। मुख्यमंत्री ने कहा, मप्र के लिए इससे बड़ा कोई तोहफा नहीं। देश में चीते विलुप्त हो गए थे और इन्हें फिर से बसाना एक ऐतिहासिक कदम है। यह इस सदी की सबसे बड़ी वन्यजीव घटना है। इससे मध्यप्रदेश में पर्यटन को तेजी से बढ़ावा मिलेगा।

kuno national park

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.