गुस्ताखी माफ़:जो चिराग थे वे चिरान हो गए….झकाझक के साथ गलियारे में झाग ही झाग…

जो चिराग थे वे चिरान हो गए….


किसी जमाने में जिनके चिराग पूरे प्रदेश में जलते थे अब उनकी हालत भाजपा की नई राजनीति में कुछ इस प्रकार से हो गई है कि उन्हें मालवा निमाड़ के नए संगठन प्रभारी अजय जामवाल के सामने कुछ इस प्रकार अपना दर्द बताना पड़ा कि वे भाजपा के मस्टरकर्मी हो गए हैं। यानी अब उन्हें काम की तलाश है। 68 से भाजपा में राजनीति कर रहे कृष्णमुरारी मोघे मध्यप्रदेश में भाजपा के संगठन प्रभारी भी थे और वे प्रदेश के भाजपा नेताओं का भविष्य तय करते थे। अब स्थिति यह है कि उनसे कम उम्र के नेता उनका भविष्य तय नहीं कर पा रहे हैं। हालत यह हो गई है कि उन्हें भी पार्षद के उम्मीदवार के लिए भी टिकट दिलाने के लिए कई घाट पर जाना पड़ा है।

ऐसे में उन तमाम नेताओं को यह समझ लेना चाहिए कि जिनके आज झंडे लहरा रहे हैं, आने वाले समय में उन्हें झंडे उठाने वाले भी नहीं मिलेंगे। हालांकि जिस कुशाभाऊ ठाकरे के आदर्शों के साथ संगठन मंत्रियों का चरित्र देखा जाता था अब कुशाभाऊ के सिद्धांतों को पदों की चाह वाले संगठन मंत्रियों ने भोंगली बनाकर भाजपा को ही दे दिया है। चंद साल पहले राजनीति शुरू करने वाले कई संगठन मंत्री अब लोकसभा और विधानसभा के ख्वाब देखने लगे हैं।

देखना भी चाहिए अब पार्टी में कांग्रेस की संस्कृति पूरी तरह आ गई है। दूसरे दलों को मथ कर निकले मक्खन की कीमत देकर भाजपा में शामिल नेताओं के साथ कांग्रेस की सड़ी छांछ और गंदा पानी भी भाजपा की रगों में अब आराम से दौड़ रहा है। बची-कुची कसर आने वाले दिनों में और पूरी हो जाएगी। कांग्रेस मुक्त की बजाय कांग्रेस युक्त भाजपा का नया नारा है।

झकाझक के साथ गलियारे में झाग ही झाग…


नगर निगम के गलियारों में कई सालों बाद एक बार फिर चहल-पहल दिखाई देने लगी है। झकाझक कुरते-पायजामे के साथ नेता अब यहां नजर आ रहे हैं। दूसरी ओर जो अधिकारी नगर निगम से लम्बे समय से कृष्ण मुख कर चुके थे, वे भी सुबह स्नान-ध्यान के बाद यहां पहुंच जाते है।

जो लम्बे समय से निगम से अंतरध्यान हो गए थे, जिन्हें नगर निगम में विलुप्त प्रजाति का अधिकारी माना जाता था, वे भी भोर भय दिखाई देने लगे हैं। आसपास की चाय की दुकानों पर भी चाय देने वालों का सम्मान बढ़ गया है। जो भी हो कम से कम कुछ कामकाज तो शुरू हो ही जाएगा। फाइलें चलने लगेंगी। चेहरे की रंगत बदलने लगेगी।

-9826667063

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.