indian currency: रुपया डॉलर के मुकाबले आज भी गिरा, 90 रुपए तक अब जाएगा

मंदी का असर पूरे विश्व पर दिखेगा, चार ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था घट जाएगी

indian currency

indian currency

मुबंई (ब्यूरो)। लगातार रुपए की गिरावट ने रिजर्व बैंक के सामने नई मुसीबत खड़ी कर दी है। रुपया आज डॉलर के मुकाबले 82.82 पर पहुंच गया है। कल रिजर्व बैंक ने हस्तक्षेप कर रुपए को बचाने की कोशिश के बाद हाथ ऊंचे कर दिए।

अब रुपया आने वाले समय में अंतरराष्ट्रीय मंदी के कारण 90 रुपए तक जाने की संभावना बन गई है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा है कि आने वाले समय में पूरे विश्व से 4 ट्रिलियन डॉलर की राशि गायब हो जाएगी। यानी बाजार में मांग की भारी कमी दिखाई देगी। इसका असर भारत पर भी दिखाई देगा।रिजर्व बैंक के तमाम प्रयास के बाद भी रुपए की साख बाजार में गिरती जा रही है।

Also Read – 12 लाख हेलमेट की जरूरत, बाजार में उपलब्ध नहीं होने से बढ़ेगी कालाबाजारी

रुपया लगातार दुबला हो रहा है। रिजर्व बैंक ने रुपए को बचाने में अभी तक 100 अरब डॉलर के ज्यादा बाजार में स्वाहा कर दिए हैं। अब विदेशी मुद्रा भंडार में लगाातर गिरावट के बाद रिजर्व बैंक अब बाजार से रुपया नहीं उठा रही है। इसके चलते अब रुपया आने वाले 4 माह में तूफान में फंस जाएगा। रुपया डॉलर के मुकाबले 90 रुपए तक जाने की संभावना तेज हो गई है।

अर्थ शास्त्रियों का मानना है कि आने वाले समय में रुपए की गिरावट अब जब तक होती रहेगी जब तक डॉलर इंडेक्स में कोई कमी नहीं होती। दूसरी और अमेरिका की फैडरल बैंक एक बार फिर ब्याज दरें बढ़ाने जा रहा है। इसका असर भी रुपए की गिरावट पर दिखेगा। वहीं अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की ताजा रिपोर्ट के अनुसार कई देशों में मंदी का दौर शुरू हो गया है और इसके कारण अर्थ जगत से 4 ट्रिलियन डॉलर कम हो जाएंगे।

कोटक सिक्यॉरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट, करेंसी, अनिंद्य बनर्जी ने कहा कि आज कारोबार के दौरान रुपया 82.42 के न्यूनतम स्तर तक फिसला. फॉरन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स की बिकवाली से रुपए पर दबाव बढ़ रहा है. आज अमेरिकी जॉब डेटा आने वाला है. अगले सप्ताह अमेरिका में कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स यानी सीपीआई डेटा आने वाला है. अभी रुपए पर दबाव बना रहेगा और स्पॉट मार्केट में यह 81.80-82.80 के दायरे में कारोबार करेगा.

indian currency

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.