indian rupees down: रुपया औंधे मुंह तो शेयर बाजार धड़ाम

महंगाई रोकने के लिए उठ रहे कदम से मांग टूटेगी, आरबीआई भी बढ़ाएगा ब्याज दरें

indian rupees down

indian rupees down मुंबई। आज अमरीकी फेडरल बैंक द्वारा ब्याज दरों में की गई वृद्धि के बाद जहां डॉलर इंडेक्स में जमकर उछाल आया है वहीं रुपया गिरना शुरू हो गया है। आज रुपया 80.45 पैसे पर पहुंच गया है। आने वाले समय में रुपया अब और तेजी से टूटेगा।

दूसरी ओर रिजर्व बैंक भी अपनी ब्याज दरें इसी महीने बढ़ाने जा रहा है। इधर अमरीका के असर से आज शेयर बाजार में भी सुबह से ही गिरावट शुरू हो गई। माना जा रहा है शाम तक 600 अंकों से ज्यादा की गिरावट दर्ज हो सकती है।

Also Read – gold news: सोने की कीमतें लगातार गिरेंगी

वहीं डॉलर के मजबूत होने के कारण अब सोने की कीमतों में अच्छी खासी कमी दिखाई देगी।

महंगाई पर नियंत्रण के लिए बढ़ाई जा रही ब्याज दरों को लेकर विश्व बैंक ने भी चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि इसका असर उत्पादन और बेरोजगारी के अलावा अर्थव्यवस्था पर भी पड़ेगा। क्योंकि इससे मांग टूटेगी।

रुपया अपने अब तक के सर्वकालिक निचले स्तर पर पहुंच गया है। यह अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 80.28 रुपये के स्तर पर खुला। इससे पहले गुरुवार को रुपया 79.98 के स्तर पर क्लोज हुआ था।

बुधवार को रुपये ने अपने अब तक के सर्वकालिक निचले स्तर 80.45 का स्तर छू लिया है। वहीं दूसरी ओर, डॉलर में पिछले 20 वर्षों में सबसे बड़ा उछाल आया है

अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व ने बेतहाशा महंगाई पर नियंत्रण के लिए ब्याज दरें 0.75 फीसदी बढ़ाने की घोषणा की है। लगातार तीसरी बार वृद्धि के बाद बैंक का बेंचमार्क फंड दर बढ़कर 3 फीसदी से 3.25 फीसदी तक हो गया है।indian rupees down

पूरी दुनिया के बाजार पर फेड के फैसले का असर दिख रहा है। घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत भी गिरावट के साथ हुई है। सेंसेक्स 419 अंक गिरकर 59.037 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। वहीं निफ्टी 110 अंक लुढ़ककर 17608 के स्तर पर ट्रेड कर रहा है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार से मिल रहे कमजोर संकेतों के बीच बैंकिंग, वित्तीय सेवाओं और आईटी सेक्टर के शेयरों में बिकवाली दिख रही है। इधर पिछली बार भी फेडबैंक के ब्याज दरों में वृद्धि का असर सोने की कीमतों पर दिखाई दिया था। 1000 रुपए से ज्यादा अभी तक सोना टूटा है।

माना जा रहा है कि आने वाले समय में सोना 1525 डॉलर प्रति 10 ग्राम तक जा सकता है। इसके कारण त्यौहारी सीजन में सोने की मांग जमकर निकल सकती है।

दूसरी ओर विश्व बैंक ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि बढ़ रही ब्याज दरों के कारण मंदी पूरे विश्व में दरवाजे पर आकर खड़ी हो गई है और इसी कारण कच्चे तेल की कीमतें भी नीचे आ रही है, क्योंकि मांग में भारी गिरावट के चलते आने वाले समय में इसका असर देशों की अर्थव्यवस्था के साथ ही बेरोजगारी पर भी दिखाई देगा। indian rupees down

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.