Indore Metro: मेट्रो की जमीन के लिए व्यापारियों को नोटिस

फर्स्ट और सेकंड फैज के काम की समीक्षा के लिए जल्द बैठक

indore metro
indore metro

indore metro इंदौर। इंदौर मेट्रो के पहले काम की गति के साथ दूसरे फेज की तैयारियां शुरू हो गई है। जल्द ही कलेक्टर मेट्रो के कामकाज की समीक्षा के साथ राजबाड़ा से बीएसएफ तक अंडर ग्राउंड ट्रेक निर्माण पर चर्चा करेंगे। प्रशासन द्वारा एमटीएच सहित महाराजा काम्प्लेक्स के व्यापारियों को पहले ही नोटिस जारी कर दिए गए गए है, अब आगे की कार्रवाई पर जन प्रतिनिधियों से चर्चा कर रूपरेखा तय की जाएगी।

इंदौर में मेट्रो ट्रेन की पहली राइड सरकार सिंतबर-2023 तक मेट्रो चलाने के लिए प्रयासरत है। गांधीनगर से एयरपोर्ट तक 31 किमी के रिंग रूट में से 17.1 किमी के प्रायरिटी कॉरिडोर गांधीनगर-सुपर कॉरिडोर-शहीद पार्क तक का कार्य तेजी से चल रहा है। पिछले सप्ताह शहर में निर्माणाधीन मेट्रो ट्रेक का काम देखने के लिए मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन के एमडी व नगरीय आवास विभाग के आयुक्त निकुंज श्रीवास्तव इंदौर आए थे।

उन्होंने कॉरिडोर निर्माण व अन्य कार्यों की प्रगति की समीक्षा के बाद कहा था, काम की अच्छी गति से चल रहा है, लेकिन यदि समय सीमा में मेट्रो पटरी पर उतारना है, तो अतिरिक्त संसाधन लगाना होंगे। इसके लिए दोनों निर्माण कंपनियों को अतिरिक्त काम के साथ संसाधन बढ़ाने के निर्देश दिए।

indore metro project
indore metro project

इधर एमडी के दौरे के बाद कलेक्टर मनीष सिंह जल्द ही मेट्रो के काम को गति देने के लिए समीक्षा बैठक लेने जा रहे है, अभी इंदौर मेट्रो का 35 प्रतिशत काम हुआ है। मेट्रो ट्रेक निर्माण को लेकर फर्स्ट फेज में आ रही दिक्कतों के साथ कलेक्टर सेकेण्ड फेज की तेयरियों को लेकर भी चर्चा करने वाले है।
दरअसल इंदौर में मेट्रो का राजबाड़ा से बीएसएफ तक अंडरग्राउंड ट्रेक का निर्माण प्रशासन के लिए बड़ी चुनोती साबित होने वाला है, इस ट्रैक के निर्माण को लेकर प्रशासन ने एमटीएच, महाराजा काम्प्लेक्स सहित राजबाड़ा क्षेत्र के व्यपारियों को दुकानें खाली करने के नोटिस भी जारी किए है, जिसका व्यापारी विरोध कर रहे है।

Also Read – सितम्बर में तैयार होगा मेट्रो का पहला स्टेशन

अब इस मामले में जनप्रतिनिधियों की भूमिका महत्वपूर्ण हो गई है। कलेक्टर मेट्रो ट्रेन की योजना पर जन प्रतिनधियों से चर्चा करने के बाद ही ट्रेक निर्माण के बदलाव पर अंतिम फैसला लेंगे।

कन्सल्टेंट कम्पनी ने तालमेल की कमी बताई

रेल विकास निगम को दिलीप बिल्डकान व कन्सल्टेंट ने अब तक किए गए काम का प्रजेंटेशन देने के बाद अधिकारियों ने काम में आ रही समस्याएं भी बताई। प्रशासन निगमायुक्त, आइडीए सीईओ, फारेस्ट अधिकारी के साथ चर्चा और काम में सहयोग मंगा है। कार्पेारेशन के जिम्मेदार अधिकारियों व कन्सल्टेंट को समन्वय के साथ समय सीमा तय करके काम करने के लिए कहा है। जिससे प्रशासनिक व मैदानी कामों के बीच तालमेल बना रहे और काम भी प्रभावित नहीं हो।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.