सितम्बर में तैयार होगा मेट्रो का पहला स्टेशन

जून में बनेंगे 80 पीलर, पटरी बिछाने का काम भी जल्द

इंदौर। स्मार्ट सिटी के बहुप्रतीक्षित मेट्रो ट्रेन का काम तेजी से चल रहा है। गांधीनगर से विजयनगर चौराहा तक कई स्थानों पर 80 पीलर के साथ कई विकास कार्य हो चुके हैं। 31 किलोमीटर का यह प्रोजेक्ट करोड़ों रुपए में आकार लेगा। मेट्रो ट्रेन के लिए पहला स्टेशन सितम्बर में आईएसबीटी के पास तैयार होगा। इसके लिए टोल प्लाजा को भी हटाया जाएगा। आईएसबीटी पर स्टेशन बनने से बस से आने वाले यात्रियों को मेट्रो ट्रेन की सुविधा मिल सकेगी।
गांधीनगर से बड़ा गणपति चौराहा तक करीब साढ़े 31 किलोमीटर मार्ग पर 8 से अधिक स्टेशनों का निर्माण किया जाएगा। विजयनगर में मेट्रो ट्रेन की लाइन बीआरटीएस से होकर गुजरेगी। ट्रेन के काम में सारे बाधक हटाकर उन्हें तेजी से पूरा किया जा रहा है, ताकि शासन द्वारा तय समयसीमा तक मेट्रो के प्रथम चरण का काम खत्म हो जाए। मप्र मेट्रो रेल परियोजना निगम के अधिकारियों के अनुसार परीक्षण में ट्रेन को गांधीनगर से भौंरासला होते हुए आईएसबीटी और विजयनगर तक चलाया जाएगा। इन स्टेशनों की डिजाइन जारी कर दी गई है। आईएसबीटी के द्वार के पास ही मेट्रो ट्रेन का प्रवेश द्वार बनाया जाएगा।

लिफ्ट सुविधा भी रहेगी
यहां यात्रियों के लिए लिफ्ट सुविधा रहेगी। एफओबी से लोग सीधे मेट्रो स्टेशन तक आ जा सकेंगे। यहां आने वाले यात्री और आसपास के रहवासी इलाकों के लोग इसका लाभ उठा सकेंगे। यहां वाहन पार्किंग की भी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी।

साल के अंत तक आईएसबीटी भी शुरू
इंदौर विकास प्राधिकरण द्वारा एमआर 10 चौराहा से आगे कुमेड़ी में आईएसबीटी का काम तेजी से कराया जा रहा है। इस बस स्टैंड से राजस्थान मार्ग पर बसें चल सकेगी। सिंहस्थ के दौरान बस स्टैंड को लेकर शासन ने आदेश दिए थे। यहां 25 से अधिक दुकानें भी तैयार होगी। निगम अपनी इलेक्ट्रिक बसों के चार्जिंग के लिए भी पाइंट बनाएगा।

सेगमेंट लगाने का काम
इस 31.5 किलोमीटर लंबे मेट्रो रेल कारीडोर का निर्माण चल रहा है। पहले चरण में एलिवेटेड मेट्रो ट्रेक बनाया जा रहा है। इसके लिए पिलर तैयार किए जा रहे हैं। जून माह के अंत तक 80 पिलर का काम पूर्ण हो जाएगा। तैयार पिलर पर सेगमेंट लगाने का काम भी चल रहा है। इसके अलावा मेट्रो ट्रेन के स्टेशनों का निर्माण किया जा रहा है। सभी स्टेशन मल्टी मॉडल इंटीग्रेशन पर आधारित होंगे। मेट्रो रेल कारपोरेशन लिमिटेड ने इंटरनेट मीडिया पर इन स्टेशनों के ग्राफिक्स वीडियो जारी कर इनकी विशेषताओं के बारे में बताया गया था।

फ्लाई ओवर का काम रुका
सुपर कारीडोर के बाद मेट्रो ट्रेन का स्टापेज लवकुश चौराहा पर बनाया जाना प्रस्तावित है। इसी चौराहे पर यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने इंदौर विकास प्राधिकरण ने फ्लाईओवर ब्रिज की योजना बनाई है। फ्लाईओवर ब्रिज की तीन भुजा होगी। एक भुजा लवकुश चौराहा से एमआर 10, दूसरी भुजा लवकुश चौराह से अरविंदो हास्पिटल तथा तीसरी सुपर कारीडोर पर निकलेगी। मेट्रो ट्रेन का स्टेशन लवकुश चौराहा पर बनाया जाएगा। ऐसे में प्राधिकरण को फ्लाईओवर ब्रिज की योजना को विराम देना पड़ेगा। इस ब्रिज के लिए पिछले दिनों टैंडर निकालने की बात कही गई थी।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.