गुस्ताखी माफ़-सत्यनारायण कथा शुरू… प्रथम अध्याय समाप्त..फिर ३ से लड़ेगा कौन?… बलराज होटल एक-दो दिन में ध्वस्त होगा

सत्यनारायण कथा शुरू… प्रथम अध्याय समाप्त..

अंतत: भाजपा के वरिष्ठ नेता मुन्नालाल यादव सभापति बन ही गए। इसी के साथ नगर निगम में नियुक्तियों और कामकाजों की सत्यनारायण कथा का शुभारंभ हो गया। पहले अध्याय में ही दादा दयालु ने बाजी मारते हुए मुन्नालाल यादव का बुढ़ापा ठीक कर दिया और उन्हें सभापति पद पर विराजित करवा दिया। हालांकि इस मामले में बहुत ज्यादा स्पर्धा भाजपा नेताओं में नहीं थी। राजेन्द्र राठौर पहले से ही सभापति नहीं बनना चाहते थे। इस मामले में कहा जा रहा है कि सभापति के पास कोई काम नहीं रहता सिवाय तमगे के। ऐसे में वह सक्रिय राजनीति भी नहीं कर पाता है। दूसरी ओर एमआईसी के गठन में अभी भी पेंच उलझे हुए है जो बता रहे है कि इस बार भाजपा की एमआईसी का गठन आसान नहीं होगा। एमआईसी के १० पदों में से स्वास्थ्य, जनकार्य, राजस्व और जल यंत्रालय मलाईदार पदों पर सभी जाना चाहते है। बाकी विभाग में कोई रूझान नहीं रहता है। ऐसे में इस बार एमआईसी को लेकर पूरा अगस्त माह निकल जाएगा।

फिर ३ से लड़ेगा कौन?…


पिछले दिनों क्षेत्र क्रमांक ३ के कार्यकर्ताओं की एक बैठक भाजपा कार्यालय में हुई। इस दौरान क्षेत्र क्रमांक ३ के विधायक आकाश बाबू ने बड़ी विनम्रता से जब कार्यकर्ताओं को यह समझाया कि आने वाले समय में इस क्षेत्र में कौन उम्मीदवार होगा इसको लेकर कुछ नहीं कहा जा सकता। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मैं नहीं चाहता कि कोई ऐसी बात हो जिससे लोगों को इस बात का दुख हो यानि सार यह है कि व्यवहार में कही कोई कमी न रह जाए। जिस समय वे बोल रहे थे उस समय कार्यकर्ता असमंजस में आ गए। उन्हें यह समझ नहीं आ रहा था कि क्या अगला चुनाव आकाश बाबू ३ नंबर से नहीं लड़ रहे है। अब पूरे क्षेत्र में भाजपा के कार्यकर्ताओं में यह बात जा रही है कि वे किसी और क्षेत्र में जाने वाले है। दूसरी ओर भाजपा के दूसरे नेता भी अपने समीकरण इसी आधार पर तैयार कर रहे है। अब यह तो वक्त बताएगा कि कौन मैदान में उतरेगा। हालांकि बड़े नेता मानते है कि कैलाश विजयवर्गीय अभी भी सत्ता और संगठन में फैसले कराने में सक्षम है।

बलराज होटल एक-दो दिन में ध्वस्त होगा

इंदौर। खंडवा रोड पर दो दिन पहले बलराज होटल में कावड़ियों के साथ मारपीट को लेकर प्रशासन और नगर निगम अब यहां कार्रवाई की तैयारी कर चुका है। बताया गया है कि रिंकू भाटिया की इस होटल की नपती की जाएगी और अवैध निर्माण सहित संपत्तिकर चोरी व अन्य मामलों में कार्रवाई होगी। हालांकि प्रशासन ने इसे अपनी जांच में अवैध पाया है। इसी सप्ताह अवैध निर्माण पर निगम बुलडोजर भी चलाएगा। इसी के साथ अन्य होटलों की भी जांच, पड़ताल की जाएगी। उल्लेखनीय है मारपीट करने वालों के खिलाफ कावड़िया संघ ने एफआईआर भी की है। उल्लेखनीय है निगम ने शहर में अवैध बिल्डिंगों की सूची फिर बनाना शुरू कर दी है और जल्द ही महापौर पुष्यमित्र भार्गव के आदेश पर रिमूव्हल कार्रवाई की जाएगी।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.