देश में छोटी कारों का उत्पादन अब बंद हो जाएगा

नई दिल्ली (ब्यूरो)। देश की सड़कों पर से अब छोटी कारों की विदाई शुरू होने जा रही है। लगभग सभी कंपनियां अब इनका उत्पादन बंद करने जा रही हैं। भारत में छोटी कारों का एक बड़ा बाजार रहा है। सरकार की नई नीति के तहत अब छोटी कारों में भी स्टार रेटिंग और छह एयरबैग आवश्यक होंगे। इसके चलते कारों की कीमत पांच लाख रुपए के पार पहुंच जाएगी।

किसी जमाने में छोटी कारों को क्रांति के रूप में दिखाए जाने के लिए देश में मारुति-800 का उत्पादन शुरू हुआ था। इसके बाद छोटी कारें बाजार में आने लगीं। फिर टाटा की लखटकिया नैनो का उत्पादन शुरू हुआ। इसी के साथ आल्टो, वैगन-आर, हुंडई भी बाजार में आने लगीं, परंतु अब तख्त उठने जा रहा है। पिछले एक साल में बाजार में छोटी कारों की आवक में आठ प्रतिशत की गिरावट हो चुकी है। एक अक्टूबर से सरकार की नई नीति के तहत कार में स्टार रेटिंग और सिक्स एयरबैग आवश्यक होंगे। इसके चलते छोटी कारें बनाया जाना संभव नहीं होगा, वहीं ईवी कार भी छह से सात लाख से नीचे बनना संभव नहीं होगी। इसके कारण कार कंपनियां अब छोटी कारों का उत्पादन बंद करने जा रही हैं।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.