20 साल बाद उन्हें सांभा ने पहचान दिला दी

24 अप्रैल को 'मैक मोहनÓ के जन्मदिन के अवसर

इंदौर। फिल्म ‘शोलेÓ में छोटी सी भूमिका निभाने वाले ‘सांभाÓ को कौन नहीं जानता है, इसी सांभा याने ‘मैक मोहनÓ का जन्म दिवस है, दिनांक 24 अप्रैल को है।
आपका जन्म सन् 1938 में अविभाजित भारत के सिंध प्रांत के ‘करांचीÓ के एक सिंधी परिवार में हुआ था, आपका मूल नाम था ‘मोहन मखीजानीÓ, आप बचपन से ही पढने- लिखने में बहुत तेज थे और क्रिकेट के दिवाने थे।
देश के विभाजन में उनका परिवार भारत आ गया। क्रिकेट सिखने की चाह उन्हें मुंबई ले आयी क्योंकि मुंबई मे ही क्रिकेट के प्रशिक्षण की सुविधाए थी। संयोग से उनकी मुलाकात सुप्रसिद्ध रंगकर्मी ‘शौकत आज़मीÓ से हो गई। जिन्हें अपने नाटक के अभिनेता के लिये एक दुबले- पतले व्यक्ति की आवश्यकता थी। उन्होंने मैक मोहन को अभिनय करने की सलाह दी। इस तरह क्रिकेटर बनने का सपना देखने वाले अभिनेता बन गए। फिल्मों में उनको पहला अवसर मिला – चेतन आनंद साहब की कालजयी फिल्म ‘हकीकतÓ में, इसके बाद उन्होंने कुछ फिल्मों में ‘डांसर का काम किया। साथ ही अभिनय में पारंगत होने के लिये ‘फिल्मालय स्कूल ऑफ़ एक्टिंगÓ में दाखिला लिया। धीरे धीरे उन्हें फिल्मों में छोटी-छोटी भूमिकाएं मिलने लगी।
‘शोलेÓ के लिये उन्होंने कई दिनों तक शूटिंग की थी लेकिन उनके अधिकांश दृश्य काट दिये गये और वो बहुत ही छोटी सी भूमिका ‘सांभाÓ मे नजर आये। जिसके कारण वो जबरदस्त लोकप्रिय हो गये। अपनी अभिनय यात्रा के दौरान वो अभिनेत्री ‘तब्बसुमÓ के ग्रुप में जुडकर स्टेज पर होने वाले लाईव प्रोग्राम में अभिनय करते रहें।
आपको गंभीर बीमारी हो गई और सन् 2010 में उनका स्वर्गवास हो गया उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि।
मैक मोहन ने अपने कैरियर के 45 वर्षों में लगभग 175 फिल्मों में अभिनय किया है, कुछ फिल्मे है – डॉन, कर्ज, सत्ते पे सत्ता,शान, रफुचक्कर, जंजीर, खून पसीना आदि लंबी लिस्ट है।
-सुरेश भिटे

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.