Indore Metro: तीन विकल्पों से दूर होगी परेशानी

बड़ा गणपति के बाद अंडरग्राउंड की योजना, कई निर्णयों पर सहमति बनने के आसार

indore metro
indore metro

Indore Metro इंंदौर। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के मेट्रो ट्रेन प्रोजेक्ट को लेकर जनप्रतिनिधि, अधिकारी और शहर के आर्किटेक्ट अलग-अलग सुझाव दे रहे हैं। इससे ठेका लेने वाली कंपनी पशोपेश में है। प्रोजेक्ट का आकार लेने से आमजन को किसी प्रकार की परेशानी न हो, इसके लिए तीन विकल्प कारगर हो सकते हैं। प्रसिद्ध आर्किटेक्ट अतुल सेेठ ने तीन विकल्प साझा किए हैं, जो शहरहित में फायदेमंद होंगे। इनका पालन हुआ तो मेट्रो का काम निर्बाध गति से चलता रहेगा, किसी प्रकार की बाधा और विरोध का सामना नहीं करना पड़ेगा।

मेट्रो ट्रेन को लेकर शासन स्तर पर लगातार मानीटरिंग की जा रही है। रीगल चौराहा और मध्य क्षेत्र के कुछ क्षेत्रों से लाइन निकालने को लेकर जनप्रतिनिधियों में विरोधाभास होने लगा। यहां तक की पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को भी विरोध में उतरना पड़ा। महाजन के मैदान पकड़ने की बात से अधिकारी सकते में हैं।

Also Read – indore metro project: विधानसभा चुनाव से पहले मेट्रो ट्रेन चलाने पर संशय

मेट्रो, एमजी रोड पर पलासिया चौराहा क्रॉस करने के बाद में जो पहले मेट्रो अंडरग्राउंड होने वाली थी वह मुश्किल लग रहा है। रीगल चौराहा तक आते-आते उसके अंदर खुदाई की अकल्पनीय समस्याओं जैसे पूरा रोड को खोदना पड़ रहा था। कैसे खुदाई होती, कितना समय लगता, इस दौरान यातायात का क्या होता? इन सबको ध्यान में लाने पर पिछली बैठक में यह निर्णय हुआ है कि मेट्रो को ऊपर चलाया जाएगा। शहर में भी और पूरे एमजी रोड से होते हुए बड़े गणपति तक ऊपर मेट्रो चलेगी और बड़ा गणपति के बाद अंडरग्राउंड की योजना अभी है। इसमे भी शहर बहुत तकलीफ भोगेगा।

विकल्प एक

इसके बारे में तीन विकल्प हैं, जिसमें पहला विकल्प यह है कि मेट्रो को शेख हातिम तिराहे से ही नाले के किनारे किनारे लेते हुए 56 दुकान, जंजीर वाला चौराहा होते हुए रेसकोर्स रोड पर नए मेट्रो ओर रेलवे स्टेशन का मिलन संभव है और उसके आगे शहर मे जो ले जाना है वह नयापुरा से चिमनबाग चौराहे होते हुए सुभाष मार्ग से होते हुए बड़ा गणपति तक आराम से जाया जा सकता है।

दूसरा विकल्प

अगर अंडरग्राउंड ले जाना हो तो जीएसआईटीएस के सामने से ट्रेन को अंदर ले जाया जा सकता है। वहां पर खुदाई करने में और ट्रैफिक के बीच में अड़चन नहीं आएगी। यहां से ट्रेन को अंडर ग्राउंड करके इसको सुभाष मार्ग ला सकते हैं या एमजी रोड के समकक्ष समांतर भी अंदर ले जाया जा सकता है, इसमें कोई कठिनाई नहीं आएगी।

तीसरा विकल्प

यह है कि मेट्रो जो ऊपर आ रही है वह हाईकोर्ट के बाद अहिल्या लाइब्रेरी के वहां से मोड़ते हुए रानीसराय एसपी ऑफिस के बीच में जो जगह है वहां से निकालते हुए मेहतानी मार्केट के बीच से होते हुए छोगालाल उस्ताद मार्ग से होते हुए रिवर साइड रोड पर आएगी और वहां से आगे जा सकती है। इस तरीके से और उसमें भी नागरिकों को कम अड़चन, असुविधा होगी। उपरोक्त तीन विकल्पों पर विस्तृत अध्ययन होकर जनता के सामने लाकर और विश्वास में लेकर ही काम होना चाहिए। Indore Metro

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.