indore clean city: स्वच्छता के छक्के का श्रेय इस बार निगम आयुक्त प्रतिभा पाल को

न गेती चली, न फीते कटे और शहर में हो गए करोड़ों के काम

indore clean city

इंदौर। एक बार फिर इंदौर में स्वच्छता का तमगा हासिल करने की उपलब्धि बरकरार रखी है। यह पहला स्वच्छता पुरस्कार होगा जिसमें पूरी तरह से इस पुरस्कार का श्रेय नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल के खाते में जाता है।

परिषद का कार्यकाल समाप्त होने के बाद उन्होंने नगर निगम आयुक्त का पद संभाला था और उसके बाद उन्होंने प्रशासनिक कसावट के साथ भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों को सजा देने में कोई कमी नहीं रखी।

pratibha pal

पिछले दो सालों में लोगों को पता ही नहीं लगा, न गेती चली, न फीते कटे और करोड़ों के काम हो गए। जिस सब्जी मंडियों को हटाने में 4 महापौर और 4 निगम आयुक्त सफल नहीं हो पाए, उन्होंने अपनी प्रतिभा का उपयोग करते हुए चंद घंटों में यह सफलता दिला दी।

आज शहर स्वच्छता का सिक्सर लगाने जा रहा है। नगर निगम के नवनियुक्त महापौर इसे लेने के लिए दिल्ली पहुंचे हैं। तीन दिन के इस समारोह में विभिन्न शहरों में स्वच्छता को लेकर किए गए कार्यों का प्रस्तुतिकरण होगा तो वहीं 1 अक्टूबर को यह पुरस्कार दिया जाएगा।

इंदौर नगर निगम को छठी बार मिल रहे पुरस्कार को राष्ट्रपति से लेने के लिए महापौर दिल्ली पहुंच चुके हैं। इंदौर शहर ने पिछले 6 सालों में इस दिशा में कई काम किए हैं। शहर में घरों से कचरा उठाने के लिए आम लोगों की आदत डालने का श्रेय पूर्व निगम आयुक्त मनीष सिंह को जाता है।
इसके बाद आशीषसिंह के कार्यकाल में डर के साथ प्यार से भी काम कराने का अभियान शुरू हुआ।

Also Read – सेवन स्टार रेटिंग सर्वे टीम शहर में, सर्वे से पहले प्री सर्वे करते दिखा निगम का एनजीओ

स्वच्छता के अलावा शहर वाटर प्लस और अन्य क्षेत्रों में भी उपलब्धि हासिल कर चुका है। इस बार का पुरस्कार मिलने का श्रेय केवल निगम आयुक्त प्रतिभा पाल की कार्य प्रणाली को जाता है। पाटनीपुरा और मालवा मिल की 40 साल पुरानी सड़कों पर लग रही सब्जी मंडी हटाना आसान नहीं था जो उन्होंने कर दिखाया।

indore clean city
अब इस रोड पर यातायात बेहद सुगम हो गया है। चुनाव के दौरान शहर में सफाई अभियान का मैनेजमेंट ऐसा रहा कि कहीं पर भी कोई प्रदर्शन नहीं हो पाया। दूसरी ओर गर्मी में पानी की समस्या को लेकर भी कहीं मटके नहीं फूट पाए।

निश्चित रूप से इस बार के पुरस्कार का श्रेय नगर निगम के कर्मचारियों के साथ किसी राजनेता को न जाते हुए प्रतिभा पाल को भी जाता है।

indore clean city

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.