जल प्रलय से मचा हाहाकार, 24 की मौत

देश के कई राज्यों में बाढ़ के हालात, आवागमन बंद, भूस्खलन जारी

नई दिल्ली/भोपाल (ब्यूरो)। देशभर में चार दिनों से भारी बारिश का दौर जारी है जिसके कारण बाढ़ के हालात बने हुए हैं। वर्षाजन्य हादसों में 24 लोगों की मौत हो गई, कई लोग और पशु लापता बताए जा रहे हैं। मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश के 39 जिलों में 24 अगस्त तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। नदी-नाले उफान पर हैं। नर्मदा ने रौद्र रूप धारण कर रखा है। कई पुलों पर से आवागमन पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। हजारों एकड़ जमीन की फसलें पानी में डूबी हुई है। इंदौर, उज्जैन, भोपाल में मूसलादार बारिश का दौर जारी है।

देश के कई राज्यों में झमाझम बारिश का दौर जारी है। मौसम विभाग ने सोमवार को मध्यप्रदेश, यूपी, राजस्थान व गुजरात के कुछ इलाकों में भारी वर्षा का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुसार उत्तर-पूर्वी मध्यप्रदेश में बना दबाव क्षेत्र पश्चिमी व उत्तर पश्चिमी इलाके में आगे बढ़ रहा है। यह राज्य में दमोह के आसपास केंद्रित है। इसके असर से पश्चिमी मध्यप्रदेश और पूर्वी राजस्थान में कुछ जगहों पर भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। इसके साथ ही मध्य महाराष्ट्र में कुछेक स्थानों पर भारी वर्षा हो सकती है। इसी तरह पूर्वी मध्यप्रदेश, दक्षिण उत्तर प्रदेश, पश्चिम राजस्थान और उत्तरी गुजरात में भी आज भारी वर्षा हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार उक्त राज्यों के कुछ इलाकों में बाढ़ के भी हालात बन सकते हैं। मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली में भी अगले कुछ दिनों में भारी वर्षा हो सकती है।

मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। ये जिले हैं- भोपाल, ग्वालियर, उज्जैन, सागर दमोह, नरसिंहपुर और जबलपुर। वहीं, रीवा, नर्मदापुरम, अनूपपुर, शहडोल, उमरिया, डिंडोरी, कटनी, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला, बालाघाट, खंडवा और देवास के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के अनुसार पूर्वोत्तर मध्यप्रदेश और यूपी में 30-40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की आशंका है। इन से कच्चे मकानों को नुकसान हो सकता है। वहीं, कुछ क्षेत्रों में बाढ़ से सड़कों व तालाबों को नुकसान पहुंच सकता है। भारी बारिश के कारण सड़क व हवाई यातायात भी बाधित हो सकता है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.