सुलेमानी चाय-बीजेपी में मलाई खा रहे सिंधिया के पट्टे…पार्षद पद की रेस में दौड़े खजराने के लंगड़े घोड़े…

भावी पार्षदों ने पड़े तीन तीन जुम्में...झंडे पे खड़े अंसाफ और मुन्ना..

बीजेपी में मलाई खा रहे सिंधिया के पट्टे…
सिंधिया जी के फुदकीमार पट्टे भजापा में मलाइदार पद पर बैठकर बड़ी बड़ी सेटिंग कर जहां अपनी जेब गर्म कर रहे है, वहीं जब चुनाव में काम का समय आया तो वह अपने घरों में दुबकी मार कर बैठ गए, जिनमें नासीर खान राजे, अल्पसंख्यक मोर्चे में प्रदेश की टीम में शामिल है। वहीं प्रमोद टंडन, मंजूर बेग के साथ और भी कई बड़े नाम शामिल है जो कि आज मलाई तो बड़े मजे से खा रहे है, लेकिन चुनाव में कहीं कोई नजर तक नहीं आ रहा। वहीं ये फुदकीमार पट्टे कही भी बीजेपी के झंडे उठाने को भी तैयार नहीं है। मतलब ये गुलगुले तो मजे से खा रहे है मगर गुड़ से परहेज कर रहे है।


पार्षद पद की रेस में दौड़े खजराने के लंगड़े घोड़े…
इंदौर में खजराने की कहानी सबसे निराली, जहां पूरे शहर में पार्षद पद को लेकर घमासान मचा हुआ है वहीं खजराना कहां पीछे रह सकता है। खजराना से बड़ी बड़ी पार्टियों ने ऐसे ऐसे लंगड़े घोड़ों पर दांव खेला है जिसका कोई जवाब ही नहीं, एक पार्टी ने तो वार्ड 38 और 39 से ऐसे ऐसे उम्मीदवार उतारे है, जिन्हें कोई जानता तक नहीं और जानना भी नहीं चाहता। वहीं मुस्लिम समाज के थोकबंद वोट पाने वाली पार्टी भी एक वार्ड से दो सहारों के साथ चलने वाले अनुशाली साहब पर भरोसा कर रही है। वहीं दूसरे ऐसे उम्मीदवार को उतारा है जिनके पास घोड़ों की भारी टीम तो मौजूद है, लेकिन सालों से जनता का सहयोग खा खा कर एक तरफ तो म_े हो चुके है वहीं दूसरी तरफ जनता भी कई जगह ल_ लेकर इनका स्वागत कर रही है। कुल जमा की दोनों बड़ी पार्टियां हारती नजर आ रही है वही जनता कैमरे और केक को पसंद कर रही है।

भावी पार्षदों ने पड़े तीन तीन जुम्में…
जनता को अपनी सच्ची झूठी बातों में लपेटने वाले नेता जी अब फरिश्तों के करीब पहुचना चाहते है, तभी तो इस बार मुस्लिम इलाकों के बहुत से भावी पार्षदों ने खुद को दीनदार दिखाने के लिए अपने अपने इलाकों की अलग-अलग मस्जिदों में नमाजे अदा की। जुमे की नमाज़ का जिन मस्जिदों में अलग-अलग वक्त पर होती है। खजराने में तो कई मस्जिदों के नेताजी आपस मे टकरा भी गए लेकिन दोनों एक दूसरे को देखकर मुस्कुरा के चल दिये। सोचने वाली बात ये है कि ऐसे अमल से लोगों को धोखा देना तो आसान है मगर क्या उस रब को धोखा देने की कोशिश कर रहे है जो सब के दिलों के हाल जनता है।

दुमछल्ला…
झंडे पे खड़े अंसाफ और मुन्ना..
रानीपुरा के ऐतिहासिक झंडा चोक पर मतदान के एक दिन पहले दो बड़े पोस्टर लगाए गए है। एक मुन्ना ने दूसरा अंसाफ ने। अंसाफ ने अपने पोस्टर में मुन्ना को दलाल साबित किया है। मुन्ना ने भी जवाब देते हुए सफाई दे डाली। वार्ड की छोटी छोटी गलियों से निकलकर अब दोनों झंडे पे खड़े हो गए है। यही से निगम का रास्ता भी आसानी से जाता है। जवाहर मार्ग पर हर 15 मिनट में बस आती है जो निगम ले जाती है। खास बात ये है कि इस रूट पे मुन्ना की बस भी चलती है वो आसानी से निगम जा सकते है, लेकिन अंसाफ बे बस है।
-9977862299

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.