इंदौर : भीषण हादसा, आग में 7 जिंदा जले

तड़के 3.30 बजे हुए हादसे के बाद प्रशासन और राजनेता पहुंचे

इंदौर। शनिवार तड़के शहर की स्वर्णबाग कॉलोनी में दिल दहला देने वाला दर्दनाक हादसा हो गया, जिसमें दम घुटने और आग में झुलसने से सात लोगों की मौत हो गई। शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात करीब 3.30 बजे विजयनगर और खजराना के बीच बनी स्वर्णबाग कॉलोनी में यहां एक इमारत में आग लग गई। पार्किंग में लगी इस आग ने पूरी बिल्डिंग को अपनी चपेट में ले लिया। नीचे के हिस्से में आग के कारण यहां पर रहने वाले लोग ऊपर ही फंस गए और अपना बचाव नहीं कर सके। मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने कुछ को रेस्क्यू कर बचाया। आग में पांच लोग घायल भी हुए हैं, जिसमें एक की हालत गंभीर बनी हुई है। हादसे की सूचना के बाद शनिवार सुबह मौके पर कमिश्नर हरीनारायण चारी मिश्र और अन्य अधिकारी पहुंचे, जबकि कलेक्टर मनीषसिंह एमवाय अस्पताल पहुंचे। उन्होंने घायलों के हाल जाने।
जानकारी के अनुसार विजय नगर स्थित स्वर्ण बाग कॉलोनी में पार्किंग में आग लगी। इसके के चलते निचली मंजिल पर आग लग गई, आग ने कुछ ही देर में विकराल रूप धारण कर लिया, आग की सूचना मिलने पर दमकल की गाड़ियां भी मौके पर पहुंची, लेकिन इतनी देर में आग ने विकराल रूप धारण कर लिया और बिल्डिंग आग का गोला बन गई थी, इस आग में जलने के कारण एक महिला सहित 6 पुरुषों की मौत हो गई है। 

विजय नगर स्थित स्वर्ण बाग कॉलोनी में पार्किंग में आग लगी। इसके के चलते निचली मंजिल पर आग लग गई , आग ने कुछ ही देर में विकराल रूप धारण कर लिया, आग की सूचना मिलने पर दमकल की गाडिय़ां भी मौके पर पहुंची, लेकिन इतनी देर में आग ने विकराल रूप धारण कर लिया और बिल्डिंग आग का गोला बन गई थी, इस आग में जलने के कारण एक महिला सहित 6 पुरुषों की मौत हो गई है। घटना के बाद मंत्री तुलसी सिलावट, कलेक्टर मनीष सिंह, पुलिस आयुक्त हरिनारायण चारी मिश्र, विधायक महेन्द्र हार्डिया मौके पर पहुंच गए थे।
आग धीरे-धीरे पार्किंग में रखी दर्जनभर से ज्यादा मोटरसाइकिल और कार तक पहुंच गई। देखते ही देखते आग की बड़ी बड़ी लपटें उठने लगीं, जिसकी वजह से बिल्डिंग में रहने वालों का दम घुटने लगा। इस दौरान वे बाहर निकलने की स्थिति में भी नहीं थे, क्योंकि पार्किंग में ही आग भड़की हुई थी। कुछ लोग जान बचाने के लिए बिल्डिंग से कूद गए। उनके हाथ-पैर में चोट आई। मरने वालों में एक कपल भी है, जिनका सामने ही मकान बन रहा था। कुछ दिनों तक किराए पर इस मल्टी में रहने आए थे। बताते हैं कि जल्द ही गृह प्रवेश का कार्यक्रम था, लेकिन इस आग में दोनों की दम घुटने से मौत हो गई।
इनकी गई जान- आग ने इतनी तेजी से विकराल रूप ले लिया कि किसी को संभलने का मौका ही नहीं मिला। नींद से जागे लोग कुछ समझ पाते तब तक कुछ की जिंदा जलने और कुछ की दम घुटने से मौत हो गई। मृतकों में ईश्वरसिंह सिसौदिया(45), उनकी पत्नी नीतू सिसौदिया(45), आशीष(30), गौरव(38), आकांक्षा (25) शामिल हैं।
यह हुए घायल- फिरोज, मुनीरा, विशाल प्रजाप्रति, अरशद, सोनाली पंवार और अन्य लोग घायल हुए है। हादसे के बाद से बिल्डींग का मालिक फरार है। पुलिस के मुताबिक आग लगने का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है।
दंपति की दम घुटने से गई जान- प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक ईश्वर सिंह सिसोदिया और नीतू की दम घुटने से मौत हुई है। लोगों का कहना है कि नीचे पार्किंग मैं काफी गाडिय़ां थी जिस से निकलने के लिए जगह नहीं थी पीछे का भी कोई रास्ता नहीं है ऐसा पता चला है कि कुछ लोगों ने कूदकर जान बचाई।
9 लोगों की बचाई जान- बिल्डिंग में लगी भीषण आग की सूचना मिलने पर पुलिस और प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई थी, यहां तुरंत राहत काम शुरू हो गया था, जो लोग बिल्डिंग में फंसे थे, उन्हें सुरक्षित बाहर निकालने के लिए हर संभव प्रयास किए गए, रेस्क्यू कर करीब 9 लोगों को सुरक्षित बाहर भी निकाला गया, इस घटना में पार्किंग में खड़ी कई गाडिय़ों जलकर खाक हो गई।
इमारत में 10 फ्लैट- विजयनगर पुलिस के मुताबिक स्वर्णबाग कॉलोनी में इंसाफ पिता इंसाद पटेल की दो मंजिला इमारत है। इसमें 10 फ्लैट हैं। जबकि ग्राउंड फ्लोर पर दुकानें बनी हैं। देर रात यहां 3.30 बजे बिल्डिंग के निचले हिस्से में भयानक आग लग गई। जिसमें नीचे पार्किंग में खड़ी 13 टू व्हीलगर ओर एक कार जलकर खाक हो गई। यहां से आग तेजी से ऊपर की ओर फैल गई।
मीटर जल गया- एहसान पटेल ने बताया कि रात को बिजली गुल हो गई थी, लेकिन जब बिजली आई तो पार्किंग के मीटर में आग लग गई। रात तीन बजे के करीब हमें शोर सुनाई दिया। बाहर देखा तो बिल्डिंग में आग लगी हुई थी। हमने बाल्टियों से आग बुझाने का प्रयास किया।
शार्ट सर्किट से आग लगने की आशंका- फायर ब्रिगेडकर्मी के अनुसार हमें रात करीब तीन बजे सूचना मिली कि विजय नगर की स्वर्णबाग कालोनी में दो मंजिला भवन में आग लगी है। सूचना मिलने के बाद तुरंत टीम रवाना हो गई। यहां आग पर तुरंत काबू पा लिया गया, लेकिन कुछ लोगों की मौत हो चुकी थी। माना जा रहा है कि बिल्डिंग के पार्किंग में लगे मीटर में शार्ट सर्किट के कारण आग लगी थी। यह आग वाहनों में लग गई, जिससे इसने विकराल रूप ले लिया।
मृतकों को 4 लाख रुपए मुआवजा- कलेक्टर मनीषसिंह ने सात लोगों की मौत की पुष्टि की है। उन्होंने कहा है कि मृतकों को 4 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। बिल्डिंग वैध है या अवैध इसके साथ ही इसके निर्माण की होगी जांच। घायलों को भी मुआवजा दिया जाएगा। रहवासियों के मुताबिक मकान मालिक के मोहल्ले में 4 मकान हैं। सभी में किराएदार रहते हैं।
नीचे उतरने का मौका नहीं मिला
आग के चलते बिल्डिंग में रह रहे लोगों को नीचे उतरने का मौका नहीं मिला। 7 मृतकों में से कुछ की दम घुटने से मौत हो गई। सभी के शवों को एमवाय अस्पताल की मर्चुरी में भिजवा दिया है। हादसे में घायल आधा दर्जन से अधिक लोगों को उपचार के लिए एमवाय में भर्ती किया गया है।
शार्ट सर्किट से आग लगने की आशंका- फायर ब्रिगेडकर्मी के अनुसार हमें रात करीब तीन बजे सूचना मिली कि विजय नगर की स्वर्णबाग कालोनी में दो मंजिला भवन में आग लगी है। सूचना मिलने के बाद तुरंत टीम रवाना हो गई। यहां आग पर तुरंत काबू पा लिया गया, लेकिन कुछ लोगों की मौत हो चुकी थी। माना जा रहा है कि बिल्डिंग के पार्किंग में लगे मीटर में शार्ट सर्किट के कारण आग लगी थी। यह आग वाहनों में लग गई, जिससे इसने विकराल रूप ले लिया।
मृतकों को 4 लाख रुपए मुआवजा- कलेक्टर मनीषसिंह ने सात लोगों की मौत की पुष्टि की है। उन्होंने कहा है कि मृतकों को 4 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। बिल्डिंग वैध है या अवैध इसके साथ ही इसके निर्माण की होगी जांच। घायलों को भी मुआवजा दिया जाएगा। रहवासियों के मुताबिक मकान मालिक के मोहल्ले में 4 मकान हैं। सभी में किराएदार रहते हैं।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.