(population ) देश के 13 राज्यों में जन्मदर 1 प्रतिशत से नीचे आई 20 साल में आबादी कम होना शुरू हो जाएगी

अगले साल भारत चीन को पछाड़कर आबादी में पहले स्थान पर होगा

population

नई दिल्ली (ब्यूरो) (population )। भारत भले ही अगले वर्ष विश्व में सबसे ज्यादा आबादी वाले देश में चीन को पछाड़कर पहले स्थान पर पहुंच जाएगा, तो दूसरी ओर देश में अब युवाओं की आबादी अगले 10 साल सबसे ज्यादा रहने वाली है। इधर एक ओर बड़ी खबर राहत की यह है कि पूरे देश में अब जन्मदर घटकर 1.2 प्रतिशत से 1.3 प्रतिशत तक पहुंच गई है। 1971 से 1981 तक देश की आबादी बढ़ने की दर 2.5 प्रतिशत थी, अब भारत यूरोप के उन संपन्न देशों में शामिल हो गया है जो आबादी रोकने में सफल हुए हैं।

भारत के 13 राज्यों में जन्मदर 1 प्रतिशत से भी कम हो गई है, तो वहीं सबसे ज्यादा जन्मदर वाले उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्यप्रदेश मेें भी औसत जन्मदर बेहद नीचे आ गई है। अगले 10 साल बाद भारत में सबसे बड़ी चुनौती उम्रदराज लोगों के बढ़ने से शुरू होने जा रही है, तो अभी युवाओं को रोजगार दिया जाना भी सबसे बड़ी चुनौती होगा।

Also Read – राम मंदिर के साथ ही मस्जिद भी होगी तैयार!

सांखिकी विभाग और आबादी को लेकर किए गए अध्ययन के बाद में ताजा रिपोर्ट बता रही है कि विश्व में भले ही अब आबादी बढ़कर 8 अरब हो गई है, पर भारत में अब आने वाले समय में आबादी में गिरावट का दौर शुरू हो जाएगा। अगले 20 साल बाद आबादी पीछे की ओर जाना शुरू हो जाएगी। भारत अगले साल चीन की आबादी को पार कर सबसे बड़ी आबादी वाला देश होगा। हालांकि इसके कुछ नुकसान हैं तो कई फायदे भी हैं।

इस समय देश युवाओं की आबादी से भरा हुआ है तो वहीं दक्षिण भारत, बंगाल, पंजाब, आसाम, हिमाचल, उड़ीसा सहित 13 राज्य ऐसे हैं जहां पर जन्मदर अब घटकर 1 प्रतिशत से भी कम हो गई है। उत्तर प्रदेश, राजस्थान सहित 10 राज्य ऐसे हैं जहां जन्मदर 1 प्रतिशत से ऊपर है पर 2 प्रतिशत से कम है। 1971 से 2016 तक शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षा के क्षेत्र में किए गए प्रयासों और लड़कियों को शिक्षित बनाने के कारण यह सफलता मिली है और इसी कारण सभी जातियों में आबादी कम होना शुरू हुई है। (population )

 45 करोड़ युवा रोजगार की कतार में, देने होंगे हर साल 2 करोड़ रोजगार

india population

भारत में युवाओं की आबादी के लिए 2011 से 2020 तक लाभ लेने का सबसे बेहतर अवसर था, इस दौरान देश में युवाओं ने प्रति व्यक्ति 2.62 प्रतिशत आय को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई। अब 2021 से 2031 तक देश में 42 करोड़ युवा नई ऊर्जा और नए उत्साह के साथ काम की तलाश में मैदान में उतरेंगे। सरकार को हर साल 1.5 से 2 करोड़ तक रोजगार देना होंगे। वर्ष 2030 के बाद देश में उम्रदराज होने वाली आबादी बड़ी चुनौती बनकर उभरेगी। उम्रदराज लोगों के लिए देश में अभी से ही योजनाएं बनाकर तैयारी शुरू करनी होगी। इस समस्या से इस समय जापान सबसे बड़ा संघर्ष कर रहा है, जबकि वहां आबादी भारत से बेहद कम है। (population )

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.