दीपावली पश्चात कुक्षी को जिला बनाने के लिए ” जनहित का सफ़र”

संभावित कुक्षी जिले के गांव-गांव, फलिए-फलिए तक पहुँचेगा "जनहित का सफ़र"

कुक्षी। कुक्षी क्षेत्र के विकास की रफ्तार को गति देने हेतु जन-जन की भावनाओं के अनुरूप क्षेत्र की सबसे महत्वपूर्ण जनहितैषी कुक्षी को जिला बनाने की मांग सतत जारी है।

जनहित मंच “जनादेश सरकार व “कुक्षी जिला बनाओ आंदोलन” प्रमुख सोमेश्वर पाटीदार ने बताया कि, हम कुक्षी को जिला बनाने का मांग प्रस्ताव पत्र शासन-प्रशासन को कई बार प्रेषित कर चुके व प्रत्यक्ष रूप से भी दे चुके है। हमने विभिन्न गतिविधियों में हस्ताक्षर अभियान, राजनीतिक, सामाजिक व अन्य संगठनों के समर्थन पत्र अभियान, 112 दिवस तक मौन उपवास, खून से मुख्यमंत्री को पत्र, आरएसएस ने कुक्षी को कार्यो की दृष्टि से जिला माना है इसलिए कुक्षी से आरएसएस मुख्यालय नागपुर (महाराष्ट्र) तक सायकल यात्रा की, शिव आराधना के पावन पर्व श्रावण माह में 12 शिवलिंगो का अभिषेक किया, एवं दिनांक: 27 फरवरी 2022 से प्रति रविवार रात्रि 8 से 10 बजे तक साप्ताहिक सांकेतिक धरना प्रदर्शन जारी है।

कुक्षी को जिला बनाने के लिए
पाटीदार ने बताया कि, इसी कड़ी में आंदोलन को गति देते हुए दीपावली पर्व के पश्चात कुक्षी जिला बनाने के लिए “जनहित का सफ़र” नामक यात्रा प्रारंभ करेंगे।
“जनहित का सफ़र” गांव-गांव, फलियां-फलियां पहुँचेगा और इसके माध्यम से कुक्षी जिला बनने से क्षेत्र का विकास व जनता को लाभ पर विस्तृत में संवाद कर जनजागृति करेंगे।

राजनीतिक दल सत्ता पाने के लिए वोट मांगने हेतु जनसंपर्क करते है और “कुक्षी जिला बनाओ आंदोलन” क्षेत्र के विकास को दृष्टिगत रख, जनहित में जनसंपर्क करेगा।
दीपावली पर्व के पश्चात “जनहित का सफ़र” की विस्तृत जानकारी व रूट बताया जाएगा।
बता दे, कुक्षी जिला बनने के बाद कुक्षी से पावागढ पदयात्रा एवं माँ नर्मदा की पैदल परिक्रमा करने का संकल्प भी पाटीदार पूर्व में ले चुके है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.