नाजुक स्वभाव के साथ 20 साल परदे पर स्थापित रही

23 अगस्त को सायरा बानो के जन्म दिवस के अवसर पर

इंदौर। 23 अगस्त को सुनहरे युग की बेहद खूबसूरत, नाजुक सी लगने वाली, ब्यूटी क्वीन कहलाने वाली अभिनेत्री ‘सायरा बानोÓ का जन्म दिवस है।

आपका जन्म सन् 1944 में हुआ था, पिता फिल्म निर्माता थे, जिन्होंने भारत में ‘फूलÓ और पाकिस्तान में ‘दादाÓ फिल्म बनाई थी। माँ थी अपने जमाने की खुबसूरत, हमारी फिल्मों की पहली ब्यूटी क्वीन अभिनेत्री ‘नसीम बानोÓ जो बहुत अच्छी अभिनेत्री थी। समीक्षकों के मतानुसार ‘सायरा बानोÓ को अपनी मां की खुबसूरती तो मिली थी लेकिन अभिनय के मामले मे वो कमजोर थी।

माता पिता के अलग हो जाने से सायरा का बचपन ‘लंदनÓ में बीता। वहीं उनकी पढ़ाई पूरी हुई। बचपन से ही सायरा बानो अपनी माँ जैसी प्रसिद्ध अभिनेत्री बनना चाहती थी। पढ़ाई पूरी होने के बाद सन् 1960 में लंदन से मुम्बई आ गयी, और उन्हे पहली फिल्म मिली निर्देशक ‘सुबोध मुखर्जीÓ की ‘जंगलीÓ अभिनेता थे ‘शम्मी कपूरÓ सन् 1961 की यह फिल्म जबरदस्त कामयाब रही। फिल्म का इस्टमैन कलर में होना और ‘शंकर जयकिशनÓ का लोकप्रिय संगीत फिल्म की सफलता का बड़ा कारण रहे। इसी के साथ सायरा बानो की अभिनय यात्रा चल पड़ी कई फिल्मों के बाद सन् 1964 की ‘आयी मिलन की बेलाÓ में राजेन्द्र कुमार साहब के साथ उनकी जोड़ी बहुत कामयाब रही। इस के बाद इस जोड़ी ने ‘झुक गया आसमानÓ और ‘अमनÓ में साथ में काम किया। सायरा की जोड़ी ‘जाय मुखर्जी’ के साथ भी बहुत जमी शागिर्द, दूर की आवाज़, साज और आवाज़, आओ प्यार करें आदि।

सन् 1966 में अपनी आयु से 22 वर्ष बड़े ‘दिलीप कुमारÓ से विवाह कर लिया। विवाह के बाद भी फिल्मों में काम करती रही, लेकिन पेट की किसी गंभीर बिमारी के कारण वो ज्यादा काम नहीं कर सकती थी और धीरे-धीरे फिल्मों से दूर हो गई।
सायरा बानो को जन्म दिवस की बहुत बहुत शुभकामनाएं।
-सुरेश भिटे

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.