फूलछाप कांग्रेसियों की पहचान कर नोटिस देने की तैयारी

शहर और जिलाध्यक्ष के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभियान चलाने वालों पर कार्रवाई

इंदौर। नगर निगम चुनाव परिणाम के बाद शहर कांग्रेस और जिला कांग्रेस अध्यक्ष बदलने को लेकर कहीं दबे स्वर में तो कहीं सोशल मेडिया के माध्यम अभियान चलाया जा रहा है। शहर कांग्रेस कमेटी लगातार नजर रखने के साथ ही अब इस अभियान पर रोक लगाने की तैयारी कर रही है। शहर कांग्रेस का मानना है की फूलछाप कांग्रेसी अभियान चला रहे हैं, उनको लेकर शहर कांग्रेस कमेटी की ओर से नोटिस देने की तैयारी कर रही है।

पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शहर कांग्रेस कमेटी लगातार अपना कामकाज बेहतर कर रही है, जिसका उदाहरण अकेले शहर कांग्रेस में ही 1 लाख 20 हजार से अधिक सदस्य बनाएं और विधिवत टेलीफोन नंबर सहित रिपोर्ट पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को सौंपी और उसी अनुसार पहली बार सदस्यता अभियान का प्रथम पुरस्कार भी मिला है। ऐसे में कुछ कार्यकारी अध्यक्ष बनने की चाह रख रहे हैं तो कुछ शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बनना चाह रहे हैं, इसलिए उनके द्वारा लगातार इस तरह का अभियान चलाया जा रहा है। शहर कांग्रेस कमेटी ने इसे गंभीरता से लिया है और पिछले दिनों हुई बैठक में भी निर्णय लिया है कि ऐसे फूलछाप कांग्रेसियों की पहचान कर नोटिस देकर कार्यालय में तलब भी किया जा सकता है।

सूत्रों का कहना है कि शहर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष के साथ-साथ अन्य कई कांग्रेसियों का मानना है कि इस तरह का अभियान से कोई मतलब नहीं है। बेवजह कांग्रेस की बदनामी हो रही है और आम जनता के बीच पार्टी की छवि खराब हो रही है, इसलिए ऐसे कांग्रेसियों पर नजर रखी जा रही है जो बेवजह भ्रामक प्रचार प्रसार कर रहे हैं।

शहर कांग्रेस कमेटी प्रवक्ता संजय बाकलीवाल ने बताया कि कुछ फूल छाप कांग्रेसी अभियान चला रहे हैं, जो कि बेबुनियाद है। शहर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ही रहेंगे और अभी ऐसी कोई तैयारी नहीं है जिसमें कार्यकारी अध्यक्ष बनाया जाए, क्योंकि कांग्रेस कमेटी बढ़िया काम कर रही है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.