मंदिरों में पूजन-अर्चन के लिए उमड़े लोग, शाम को कुम्हारखाड़ी में दंगल

लाखों की संख्या में लोगों ने किए नागचंद्रेश्वर के दर्शन

इंदौर। आज शहरभर में नागपंचमी का त्योहार मनाया जा रहा है। पिछले दो सालों से त्याहारों पर कोरोना का ग्रहण लगा हुआ था लेकिन इस वर्ष सभी त्याहारों पर शहर में पहले जैसा माहौल दिखाई दे रहा है। तीस साल बाद एक बार फिर शिवयोग में नाग पंचमी का पर्व मनाया जा रहा है। शहर के नाग मंदिरों में सुबह से ही भक्तों की भीड़ पूजा करने के लिए उमड़ पड़ी थी। वहीं गली मोहल्लों में सपेरे भी सांप को लेकर घूमते हुए देखे गए। लोगों ने नाग देवता को दूध भी पिलाया।

कुम्हार खाड़ी दो वर्ष बाद दंगल का आयोजन किया जा रहा है। कुश्ती का एरिना पूरी तरह से तैयार हो चुका है। आज यहां पर कई पहलवान अपना जौहर दिखाएंगे। सांवेर के करीब गांव नागपुर में नागपंचमी पर दर्शनार्थियों के द्वारा दर्शन के लिए प्रसाशन ने जायजा किया सुबह ही सांवेर एसडीओपी पुलिस टीम के साथ मंदिर प्रांगण में पहुचे गांव नागपुर में पंच मुखी नाग देवता का अति प्राचीन मंदिर है। नाग मंदिर में नाग पंचमी के एक दिन पूर्व की मध्य रात्रि से भक्त दर्शन करने पहुँचना प्रारम्भ कर देते है यह मंदिर पंच मुखी नाग देवता का है। मंदिर प्रांगण में अनुविभागी अधिकारी रविश श्रीवास्तव एसडीओपी पंकज दीक्षित थाना प्रभारी मोहन मालवी ने मंदिर प्रांगण में सुरक्षा हेतु सख्त निर्देश दिए। मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालु नाग देवता के दर्शन करने रात्रि से पहुचने लगे।

दो वर्षों के बाद उज्जैन में खुले नागचंद्रेश्वर के पट, दिखा आस्था का सैलाब

उज्जैन स्थित नागचंद्रेश्वर का जो की उज्जैन के प्रसिद्ध महाकाल मंदिर की तीसरी मंजिल पर स्थित है। पूरी दुनिया में यह एकमात्र ऐसा मंदिर है, जिसमें विष्णु भगवान की जगह भगवान भोलेनाथ सर्प शय्या पर विराजमान हैं। मंदिर में स्थापित प्राचीन मूर्ति में शिवजी, गणेशजी और मां पार्वती के साथ दशमुखी सर्प शय्या पर विराजित हैं। यह मंदिर साल में सिर्फ एक दिन नागपंचमी (श्रावण शुक्ल पंचमी) पर ही दर्शन के लिए खोला जाता है। नाग पंचमी की पूर्व रात्रि को 12 बजे मंदिर के पट खोले गए। पट खुलते ही भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। दो वर्ष से यह पट नहीं खुला था इसी वजह से इस बार भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। बजे मंदिर के पट खुलते हैं और दूसरे दिन रात 12:00 बजे अगले 1 वर्ष तक के लिए बंद हो जाते हैं।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.