सुलेमानी चाय- सुलेमानी के समीकरण…स्कूलों में इस बार लूटमार और सिफारिश का खेल…खजराना ने बना डाला अपना olx

सुलेमानी के समीकरण…

इस बार निगम चुनाव में मुस्लिम इलाकों में ज्यादा फेरबदल नहीं दिख रहा। कल परिणाम आएंगे और इससे पहले तो सभी ख़तरे के बाहर है, 17 जुलाई के बाद कई हारे प्रत्याशी घर बैठ जाएंगे। चन्दन नगर वार्ड 2 से जहां मुबारिक की जीत आसान नजर आ रही है वहीं वार्ड 8 से सामने कमजोर प्रत्यशी होने के साथ ही बहुत से उम्मीदवारों को चुनाव के पहले ही ना उम्मीद कर चुके अनवर जीत की तरफ दस्तक देते नजर आ रहे है। दूसरी तरफ इमली बाज़ार वार्ड 58 से पिछले दिनों अवैध कॉलोनियों के चक्कर में चकरा चुके कादरी की जमीनी पकड़ मजबूत दिख रही है। वार्ड 38 से के कांग्रेस के सबसे कमजोर टिकट पर अन्नू हारते तो उस्मान आसानी से जीतते दिख रहे है। वार्ड 39 की बात करे तो वाहिद अली ने इस बार इकबाल को मामू बना जीतते दिख रहे है। वार्ड 53 से फारूक इस बार पिछली बार से ज्यादा मजबूत तो हुए है लेकिन साम, दाम, दंड, भेद में अलीम की तरह पक नहीं सके। यहां कम अंतर से ही सही पर अलीम जीत सकते है। वार्ड 60 रानीपुरा में इस बार अंसाफ का सुनहरा सपना टूटता नजर आ रहा है और मुन्ना चूना लगाने में कामयाब दिख रहे है। 68 में अयाज़ बेग तो 73 में सादिक की जीत आसान दिख रही है।

स्कूलों में इस बार लूटमार और सिफारिश का खेल…


स्कूल वालों ने इस बार लॉकडाउन की कसर निकालने की कसम खा ली है। मुस्लिम एजुकेशन को लेकर शहर में तीन-चार ही बड़े इदारे है, जिनमे इक्का दुक्का को छोड़ बाकी जगह तालीम आम आदमी से दूर होती नजर आ रही है। पहले नम्बर पर खिदमत के नाम पर पढ़ाई का जिम्मा आज भी इस्लामिया करीमिया के कंधों पर ही है। हिंदी मीडियम और गर्ल्स में नर्सरी से पांचवीं की फीस आज भी तीन हजार सालाना के आस पास ही है। स्काई हाइट और सेंट उमर थोड़े महंगे है। दूसरे नम्बर पर बेगम खान बहादुर की फीस तो ठीक है, लेकिन अपनी टीआरपी बढ़ाने के लिए 2 महीने पहले भी सीट नहीं थी और आज भी नहीं है। यह बात और है कि अगर किसी बड़े आदमी का फोन आ जाए तो हर क्लास में सीट खुद ब खुद ही तैयार हो जाती है। तीसरा काजी साहब का स्कूल है जिसके उस्तरे की धार बहुत तेज है, बाकी जगह सौदे बाजी चालू है, कुल मिला कर पढ़ाई के नाम पर खिदमत का जज्बा खत्म होता दिख रहा है।

दुमछल्ला
खजराना ने बना डाला अपना olx
खजराना के पानी की तासीर कुछ अलग है, यहां हरदम कुछ नया करने की जद्दोजहद रहती है। इस बार खजराना व्यापारी एसोसिएशन के इफ्तेखार गुड्डू ने व्हाट्सएप पर खजराने का ऑनलाइन बाजार खोल रक्खा है, जिसमें सभी लोग अपनी जरूरत की चीज खरीद रहे हैं। बेजरूरत की चीज आसानी से बेच रहे हैं, अच्छी कोशिशों को हम हमेशा सलाम करते हैं। इस बार का सलाम मिस्टर गुड्डू के नाम।

-9977862299

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.