टीआई के आपत्तिजनक फोटो-वीडियो सोशल मीडिया पर

विशेष खबर : सोशल मीडिया पर आत्महत्या करने वाले थाना प्रभारी के चल रहे हैं अश्लील वीडियो

इंदौर। पुलिस कंट्रोल रूम में बीते दिनों हुए गोलीकांड में टीआई हाकमसिंह की मौत के मामले में पुलिस अलग-अलग बिंदुओं पर जांच कर रही है। इस जांच में कार का विवाद सामने के अलावा अन्य कई चौंकाने वाली जानकारियां सामने आई है। इन सबके बीच सोशल मीडिया पर टीआई के युवतियों के साथ आपत्तिजनक फोटो-वीडियो वायरल हुए हैं। इसे लेकर पुलिस का कहना है कि उनके पास यदि यह पहुंचते हैं तो मामले में जांच की जाएगी। उधर, टीआई का एएसआई रंजना से कार के विवाद मामले में ग्लोबल शूटिंग के गोविंद जायसवाल (कपड़ा कारोबारी )का नाम भी सामने आया है। जायसपाल ने ही एएसआई के नाम पर यह कार ट्रांसफर की थी। सूत्र बताते हैं कि जायसवाल के पास अनेक लोगों का रुपया लगा हुआ है। यदि मामले में जांच की जाए तो अनेक खुलासे हो सकते हैं।


टीआइ की यह कार कपड़ा कारोबारी की पत्नी के नाम थी जो बाद में एएसआइ के भाई के नाम पर ट्रांसफर हुई। इस कार में पुलिस को बैंक पासबुक, नोटरी व कुछ दस्तावेज मिले हैं। पुलिस मामले में ब्लैकमेलिंग के एंगल पर जांच कर रही है। पुलिस ने इस कार को जब्त कर लिया है। श्यामला हिल्स (भोपाल) थाने के टीआइ हाकमसिंह पंवार ने इंदौर के पुलिस कंट्रोल रूम की विविध शाखा में पदस्थ महिला एएसआइ(एम) को गोली मारने के बाद खुद को भी गोली से उड़ा लिया था। एएसआइ के कान के पास से गोली निकलने के कारण वह तो बच गई लेकिन टीआइ की मौके पर ही मौत हो गई। जांच में विवाद एक कार को लेकर सामने आया है। बताया जाता है कि टीआइ हाकमसिंह के पास एक कार (क्रेटा) थी जो एएसआइ के भाई के नाम पर है। एएसआइ वह कार लौटाने का दबाव बना रही थी। टीआइ विवाद सुलझाने के लिए कार लेकर आए थे। गोली लगने के कारण कार खड़ी रह गई। पुलिस ने उक्त कार को जब्ती में ले लिया। उसकी तलाशी ली तो कुछ कागजात मिले। बताया जाता है कार कपड़ा कारोबारी की पत्नी सीमा के नाम पर थी। बाद में यह कार एएसआइ के भाई के नाम पर ट्रांसफर हुई। इन सभी जांच के बीच सोशल मीडिया पर टीआई के युवतियों के साथ आपत्तिजनक फोटो – वीडियो वायरल हुए हैं। इन्हें लेकर पुलिस अधिकारी कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। हालांकि यह बात भी कही जा रही है फोटो-वीडियो एडिट किए गए हैं। दूसरी ओर ग्लोबल के मालिक गोविंद जायसवाल का पुराना इतिहास भी बेहतर नहीं है। मात्र चंद सालों में वे कई अधिकारियों और राजनेताओं का पैसा कारोबार में लगा चुके हैं। इसमें निमाड़ के एक विधायक के अलावा दिल्ली के पूर्व मंत्री और क्षेत्र क्रमांक 2 के एक राजनेता के करीबी का पैसा भी चल रहा है। वहीं कई पुलिस अधिकारियों के अलावा कुछ कतिपय जज भी यहां पर पैसा चला रहे हैं। यदि गोविन्द जायसवाल की पूरी जांच की जाए तो बहुत बड़ा घोटाला सामने आएगा। काल डिटेल में भी कई जानकारियां सामने आना तय है।

महिला पुलिसकर्मी का मोबाइल नहीं मिला
उधर, इस मामले में अभी तक महिला पुलिसकर्मी का मोबाइल पुलिस को नहीं मिला है। पीड़ित महिला ने वह मोबाइल क्यों नहीं दिया इस बात से कई संदेह पैदा हो रहे हैं। सीसीटीवी फुटेज में महिला का भाई भी वीडियो बनाता नजर आ रहा है। वह मोबाइल भी पुलिस के पास नहीं पहुंचा है।

पांच ने किया पति होने का दावा
सूत्रों के मुताबिक पंवार की मौत के बाद पांच महिलाओं ने दावा किया है कि वह उनका पति है। पुलिस भी इस बात से आश्चर्यचकित है। बताया जाता है कि पुलिस अब इन महिलाओं के बयान लेकर शादी के सबूत मांगेगी। पंवार के पास काफी प्रापर्टी है। माना जा रहा है कि इस प्रापर्टी को लेकर पत्नी होने का दावा करने वाली महिलाओं के बीच बवाल हो सकता है। गोलीकांड की जांच के बीच पुलिस इस मामले में अधिकृत रुप से जानकारी नहीं दे रही है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.