भाजपा के बगावतियों पर अब कांग्रेस की नजर

11 को आएगी कांग्रेस की पहली सूची, भाजपा 14 को सभी वार्डों के प्रत्याशियों के नामों की घोषणा करेगी

इंदौर। नगर निगम चुनाव के लिए भाजपा, कांग्रेस में जहां हर वार्ड में कई दावेदार चुनाव लड़ने के लिए तैयार है। वहीं इस बार कांग्रेस पूरी ताकत से शहर में सरकार बनाने के लिए कमर कस चुकी है। भाजपा के बगावतियों पर कांग्रेस की नजर है। 85 में से 30 वार्डों में पार्षद प्रत्याशी की सूची 11 जून को कांग्रेस जारी करेगी। पार्टी ने महापौर के लिए पहले ही विधायक संजय शुक्ला का नाम घोषित कर दिया है। जबकि भाजपा प्रत्याशियों के नामों की घोषणा 14 को कर दी जाएगी। इससे पहले सभी नामों पर अंतिम मोहर लग जाएगी जिससे विद्रोह की स्थिति न बने। कांग्रेस भाजपा के गढ़ वाले 10 वार्डों पर नजर रखे हुए है।

चुनाव आयोग ने पिछले दिनों नगर निगम चुनाव की घोषणा कर दी थी और अब लगातार पार्टियों की बैठकें हो रही हैं। भाजपा, कांग्रेस के कार्यालयों पर दावेदार अपने बायोडाटा जहां दे रहे है। वहीं कांग्रेस ने भाजपा के बगावतियों पर खास नजर रखी हुई है। कांग्रेस प्रत्याशियों की पहली सूची 11 जून को जारी की जाएगी जिसमें 30 नाम होंगे और महापौर का नाम भी रहेगा, जबकि भाजपा इस बीच सभी वार्डों में नाम फायनल कर लेगी और 14 जून को महापौर प्रत्याशी के साथ सभी नाम की घोषणा कर दी जाएगी। सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस भाजपा के गढ़ वाले 10 वार्डों में अंतिम समय में नाम घोषित कर सकती है। इन वार्डों में ऐसे पार्षद रहे है जो 20 से 30 वर्षों से चुनाव लड़ते आ रहे है। यहां पार्टी यदि पूर्व पार्षदों या उनके परिजनों को टिकिट नहीं देगी तो कांग्रेस के लिए फायदेमंद होगा और भाजपा के बागी प्रत्याशियों को टिकिट का ऑफर दे सकती है।

6 वार्डों में भाजपाई उठा सकते है बगावत के सुर
इधर भाजपा के ऐसे वार्ड जहां कई नेता 3 से 4 चुनाव लड़ चुके है और अब यह वार्ड भाजपा के गढ़ बन चुके है वहां संगठन के निर्देशानुसार 50 वर्ष से अधिक आयु के नेताओं को टिकिट नहीं देने की तैयारी है, मगर ऐसे नेता जो कई बार पार्षद बने उनके पुत्र या पत्नी को टिकिट देकर विरोध को कम किया जा सकता है। वहीं 6 से 8 नेता ऐसे है जो बगावत कर सकते है। कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि शहर में एक विधानसभा में 6 भाजपा नेता उनके सम्पर्क में है और अंतिम समय में कांग्रेस की सदस्यता लेकर वे पंजे पर चुनाव लड़ सकते है।
हर वार्ड में 15 से 20 दावेदार
टिकिट बंटवारे के लिए चुनाव समितियों की बैठकें जहां लगातार हो रही है। वहीं भाजपा में हर वार्ड में 15 से 20 दावेदार चुनाव लड़ने के लिए कमर कस चुके है। वहीं भाजपा विरोध से बचने के लिए 14 जून को ही सभी नाम फायनल करेगी। इधर महापौर प्रत्याशी का नाम दिल्ली से फायनल होगा। जो नाम अभी चल रहे है उनके अलावा एकदम से कोई नया नाम भी महापौर प्रत्याशी के लिए आएगा।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.