शहर को मिलने जा रही है इंटीग्रेटेड सिस्टम की सौगात

100 से अधिक जगह पर होगा वाहन चार्जिंग स्टेशन का निर्माण

इंदौर।
महानगर में जिस तेजी के साथ इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या बढते जा रही है, उसे देखते हुए अब शहर को इंटीग्रेटेड सिस्टम की सौगात मिलने जा रही है। इसके चलते इसी साल के अंत तक १०० से अधिक जगह पर वाहन चार्जिंग स्टेशन का निर्माण किया जाएगा। इन पर दो पहिया, तीन पहिया, चार पहिया वाहन के साथ बसों को भी चार्ज करने की सुविधा उपलब्ध होगी। इसके अलावा, इन स्टेशनों पर ई-वाहन चालकों को बेटरी स्वाइपिंग की सुविधा भी प्रदान की जाएगी। इसके चलते वाहन चालकों को चार्जिंग के लिए अधिक देर इंतजार नहीं करना पड़ेगा।
देखा जाए तो देश के अन्य महानगरों की तरह इंदौर में भी आए दिन पेट्रोल-डीजल के बढते दामों की वजह से इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रति लोगों का रूझान दिन-प्रतिदिन बढते जा रहा है। हाल-फिलहाल इंदौर में ५८०० से अधिक वाहन आरटीओ कार्यालय में पंजीकृत हो चुके हैं। शहर में इलेक्ट्रिक वाहनों की बढती संख्या को देखते हुए अब इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशनों को खोले जाने की तैयारी शुरू हो गईर् है। इन चार्जिंग स्टेशनों पर पब्लिक टायलेट के साथ ही ग्रासरी शाप भी खोली जाएंगी, ताकि लोग वाहन चार्ज होने के समय में खरीदारी भी कर सकें। बताया जा रहा है कि एआईसीटीएसएल व्दारा नगर में तीन एजेंसियों के माध्यम से इस वर्ष के अंत तक १०० से अधिक वाहन चार्जिंग स्टेशन बनाए जाने की योजना है। इनमें से अभी माई मंगेशकर सभागृह के पास एवं पालिका प्लाजा फैज-२ पर मात्र कार चार्जिंग स्टेशन तैयार हो चुके हैं। इसके अलावा एक अन्य एजेंसी ७५ पब्लिक चार्जिंग स्टेशन तैयार करेगी। यहां पर सभी तरह के वाहन चार्ज हो सकेंगे। इन्हें बनाने के लिए स्थान भी तय किए जा चुके हैं। जल्द ही इनका निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा।

यहां पर सबसे पहले होगा स्टेशनों का निर्माण
सूत्रों के अनुसार महानगर में सबसे पहले पलासिया चौराहा, ५६ दुकान, रेलवे स्टेशन, सरवटे बस स्टेंड, गंगवाल बस स्टैंड, तीन इमली बस स्टेंड, खजराना गणेश मंदिर, रणजीत हनुमान मंदिर, अन्नपूर्णा मंदिर, विजय नगर, एमआर-१०, भंवरकुआ के साथ ही शहर के सभी प्रमुख माल एवं प्रमुख ओवरब्रिज के बोगदों में वाहन चार्जिंग स्टेशनों का निर्माण किया जाएगा।
नगर निगम के वाहनों के लिए बनेंगे २० स्टेशन
इधर, एआईसीटीएसएल व्दारा नगर में संचालित होने वाली ४० इलेक्ट्रिक बसों को चार्ज करने के लिए राजीव गांधी चौराहे पर बस डिपो में १२ चार्जिंग स्टेशन बनाए गए हैं। यहां पर २४ बसों के चार्जिंग की सुविधा है। इसके अतिरिक्त हवा बंगला जोनल कार्यालय, खजराना गणेश मंदिर के पास, चंदन नगर बस डिपो, सिलिकान सिटी चौराहा, एरोड्रम रोड क्षेत्र में पांच नए चार्जिंग स्टेशन तैयार कराए जा रहे हैं। यहां पर भी इलेक्ट्रिक बसें चार्ज होंगी। इनमें से अभी हवा बंगला पर चार्जिंग स्टेशन बनकर तैयार हो गया है, जबकि शेष चार जगह पर सिविल वर्क का काम अंतिम चरण में है। इसके अलावा, निगम की १६ इलेक्ट्रिक कारो की चार्जिंग के लिए नगर निगम परिसर, एआईसीटीएसएल परिसर व स्मार्ट सिटी परिसर में चार्जिंग स्टेशन बने हैं। इनका उपयोग हो भी रहा है।
दो तरह की होगी चार्जिंग सुविधा, निगम की होगी कमाई
महानगर में बनने वाले इन पब्लिक चार्जिंग स्टेशन में दो तरह की चार्जिंग सुविधा होगी। फास्ट चार्जिंग पाइंट पर २ घंंटे में वाहन चार्ज हो सकेंगे। इनमें दो पहिया, तीन पहिया और चार पहिया वाहन चार्ज किये जा सकेंगे। बताया जाता है कि एक पाइंट पर कुल ६ नोजल होंगे। इसके अतिरिक्त, स्लो चार्जिंग स्टेशन पर चार से पांच घंटे में वाहन चार्ज हो सकेंगे। इन पर तीन पहिया वाहन, ई-रिक्शा, ई लोडिंग रिक्शा चार्ज किए जा सकेंगे। इस तरह के स्टेशन पर वाहन चालक अपने वाहनों को रात में चार्जिंग के लिए छोड़ सकेंगे। नगर में चार्जिंग स्टेशन तैयार करने वाली एजेंसियों के साथ रेवेन्यू शेयरिंग माडल के आधार पर एआईसीटीएसएल को राशि देगा। इसके अलावा, कुछ चार्जिंग स्टेशन पर विज्ञापन लगाकर भी कमाई की जाएगी।
यहां पर बनाए जाएंगे स्लो चार्जिंग स्टेशन
बिचौली मर्दाना बायपास, कैट चौराहा, निपानिया चौराहा, सेवा कुंज अस्पताल के पास, बाणेश्वर कुंड, रेती मंडी में डी मार्ट के पास, देवास नाका मेट्रो होलसेल मार्ट के पास एवं चौइथराम चौराहे पर निगम के सीएनजी स्टेशन के पास स्लो वाहन चार्जिंग स्टेशन बनाए जाएंगे।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.