संगठन के तय कार्यों को ही अंजाम नहीं दे पा रहे सौगात

पुराने पदाधिकारी भी मिश्रा के कारण पशोपेश में

इंदौर। जब से भाजयुमो के नगर अध्यक्ष सौगात मिश्रा बने हैं तबसे वे अपनी कार्यशैली को लेकर चर्चाओं में आ गए हैं। अब प्रदेश संगठन के द्वारा तय कार्यक्रम भी वे कर नहीं पा रहे हैं ना उनके साथ पुराने व नए नेता जुड़ पा रहे हैं। मिश्रा द्वारा मई माह में संगठन के कार्यक्रम भी नहीं कर पाना भी चर्चाओं में है। संगठन के निर्देश के बावजूद भी वे अपनी टीम तय नहीं कर पा रहे हैं। पुराने अध्य्क्ष पद के दावेदार भी कई मोर्चा नेता टीम में आना चाह रहे हैं, लेकिन तय नहीं कर पा रहे हैं कि टीम में मिश्रा के साथ काम कर पाएंगे या नहीं।
प्रदेश संगठन द्वारा मोर्चे के प्रदेशभर में कार्यक्रम तय किए गए थे जिसको लेकर प्रदेश की समितियां भी बन गई थी, लेकिन सौगात मिश्रा नगर को लेकर अभी तक समितियां नही बना पाए हैं। 15 मई से 22 तक भाषण प्रतियोगिया आयोजित करना थी लेकिन मोर्चा अभी तक ये कार्यक्रम शुरू भी नहीं कर पाया है। 8 व 9 मई को मंडलों की बैठक करना थी वह भी नहीं की गई। साथ ही 6 व 7 को जिले में बैठक करना थी, लेकिन टीम नहीं बनने से वह भी नहीं हो पाई है। बैठक में जिला टीम, मंडल अध्यक्ष सहित अन्य को रहना था व जिला समिति का गठन करना था, वे भी मिश्रा नहीं कर पाए। साथ ही विधानसभा प्रभारी भी बनना थे। उक्त कार्यक्रमों के माध्यम से प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री की योजनाओं को जनजन तक पहुंचाना था, लेकिन नहीं हो पाया।

नहीं बनी रूपरेखा
1 जून से 15 तक बैठक करना है, जिसमें वकील, डॉक्टर, खिलाड़ी, कलाकार , इंजीनियर, किसान व व्यवसायी को जोड़ना है लेकिन उक्त कार्यकमों की भी कोई रूपरेखा तय नहीं हो पा रही है।

टीम बनना बाकी
नगर टीम का बनना अभी बाकी है। सौगात मिश्रा के साथ बड़ी परेशानी ये हो गई है कि वे राऊे विधानसभा से बाहर नहीं आ पा रहे हैं। उनका किसी भी अन्य नेता से सामंजस्य नहीं बैठ पा रहा है। ऐसे में टीम बनाना बड़ी चुनौती हो गया है। संगठन के निर्देश के बाद भी टीम की घोषणा नहीं हो पा रही है। नहीं नाम तय हो पाए हैं। पुराने पदाधिकारी नई टीम तो आना चाह रहे हैं लेकिन मिश्रा की कार्यशैली के कारण नहीं आ पा रहे हैं। नई पदाधिकारी बनने के दौड़ में मोर्चा नेताओं का बंद जुबान ये भी कहना है कि हमारी टीम का ये फायदा उठाएंगे, क्योंकि इनके पास टीम की कमी है।

अभी तय नहीं
संगठन द्वारा 2 माह बाद 28 जुलाई से 15 अगस्त तक पौधारोपण अभियान चलाना तय किया गया है जिसको लेकर भी प्रदेश स्तर पर समितियों को जिम्मेदारी दे दी गई है लेकिन इंदौर में अभी तय नहीं किया जा सका है।
धरातल पर नहीं उतर पाया
संगठन द्वारा यूथ कनेक्ट अभियान के तहत भी कार्यक्रम तय किए गए हैं लेकिन वे भी कहीं नजर नहीं आ रहे हैं। युवाओं को अधिक जोड़ने के चलते संगठन द्वारा ये कर्यक्रम बनाया गया है, जो अभी धरातल पर इंदौर में नहीं उतर पाया है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.