उज्जवला योजना में नहीं भरवा रहे सिलेंडर

90 लाख वापस नहीं लौटे, 1 करोड़ एक बार ही आए

नई दिल्ली (ब्यूरो)। सरकार की गरीब परिवारों को गैस टंकी देकर जीवन स्तर सुधारने को लेकर शुरू की गई उज्जवला योजना को लेकर आरटीआई के तहत मिली जानकारी बता रही है कि 2021-22 में 90 लाख से अधिक लाभार्थियों ने कनेक्शन लेने के बाद सिलेंडर नहीं लिया, तो दूसरी ओर एक बार मुफ्त लेकर गए लोगों में से एक करोड़ लोगों ने ही दौबारा सिलेंडर भरवाया। अभी भी महंगी गैस होने के कारण इस योजना से जुड़े लोग पूरी तरह दूर हो गए हैं।
आरटीआई कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौर ने तीनों तेल कंपनियों से ली जानकारी के अनुसार बताया है कि उज्जवला योजना पर भी महंगे गैस सिलेंडरों का असर दिख रहा है। सरकार का मार्च 20 तक 8 करोड़ लोगों को उज्जवला कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा गया था। अब इसका दूसरा वर्जन भी शुरू होने जा रहा है, जबकि पहले वर्जन में ही गैस कनेक्शन लेने वाले टंकी नहीं ले रहे हैं। एचपी कंपनी के अनुसार उनके यहां से 2022 में 65 लाख लोगों ने गैस कनेक्शन पर टंकी नहीं ली। दूसरी ओर इंडियन ऑइल कॉर्पोरेशन के 9 लाख 1 हजार उज्जवला कनेक्शन लेने वालों ने टंकी नहीं भरवाई तो भारत पेट्रोलियन के 16 लाख उज्जवला कनेक्शन गैस टंकी भरवाने नहीं आए। वहीं एक बार भरवाने वालों की संख्या आईओसी में 52 लाख, एचपी में 27 लाख और भारत पेट्रोलियम में 28 लाख 56 हजार रही। आरटीआई में यह भी जानकारी मिली की अभी प्रति कनेक्शन 3.67 प्रति रिफिल हो रहा है। दूसरी ओर कोरोना काल में सरकार द्वारा मुफ्त गैस दिए जाने के दौरान 14 करोड़ 17 लाख लाभार्थियों ने इसका लाभ लिया। यह भी शिकायत आ रही है कि उज्जवला योजना की सब्सिडी गैस एजेंसी के कर्मचारी ही हड़प कर रहे हैं। इस मामले में सरकार जांच करवा रही है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.