नहीं बिक रहे नंबर, जून से 7 हजार में आवंटित होंगे

45 हजार नंबर में 6 वीआईपी पर ही बोली लगी

इंदौर। परिवहन विभाग के तमाम प्रयास के बाद भी वीआईपी नंबरों की नीलामी में उत्साहजनक परिणाम नहीं दिखाई दे रहे है। चार दिन में 45 हजार नंबरों में से सिर्फ 6 नंबरों की बोली ही लग पाई है। 1 मई से शुरू हुई बोली 7 मई की रात 12 बजे तक चलेगी। इसके बाद ही बोली लगाने वाले को विजेता घोषित किया जाएगा। इसके पूर्व 0001 नंबर की बोली के समय सर्वर डाउन होने को लेकर भी विवाद बना था।
परिवहन विभाग द्वारा 1 मई से वीआईपी नंबरों की नीलामी शुरू हो गई है। 45 हजार नंबरों में मनचाहे गए नंबर पर बोली लगाने का विकल्प दिया गया है इसके बाद भी नंबरों की बोली लगाने में उत्साह नहीं दिखाई दे रहा है। केवल 6 नंबरों पर ही लगातार बोली बढ़ रही है। अधिकारियों के अनुसार मई माह में पहली नीलामी 1 मई से शुरू हो गई है। उपलब्ध नंबरों में सबसे ज्यादा बोली लगाने वाले व्यक्ति को 7 मई को विजेता घोषित करते हुए नंबर का आवंटन कर दिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि पिछली नीलामी में कार के नंबरों की नई सीरिज एमपी 09 डब्ल्यूएम के वीआईपी नंबर भी शामिल किए गए है। इसलिए उम्मीद है कि इस बार की बोली में कई अन्य नंबर भी बिकेंगे। हालांकि अभी केवल 6 पर ही बोली लगी है। सभी नंबरों पर सिंगल दावेदार ही सामने आए है। इन नंबरों में भी तीन नंबर कार के ही है। उल्लेखनीय है कि आरटीओ में 45 हजार नंबर खाली पड़े है जो बाद में भी खाली पड़े रहते है। इससे खाली नंबरों की संख्या बढ़ रही है। परिवहन विभाग में इन नंबरों को बिना बोली के बेचने के लिए नोटिफिकेशन भी किया है लेकिन केन्द्र सरकार के वाहन सर्वर पर पंजीयन शुरू नहीं होने से इसे लागू नहीं किया जा सका है। जून तक मध्यप्रदेश में पंजीयन शुरू कर दिया जाएगा। इसके बाद 10 चक्र की बोली में नहीं बिके नंबरों को बिना बोली के 7 हजार रुपए में देने की योजना बना दी गई है। खुद डीलर ही इन्हें सीधे बेच सकेंगे।
You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.