5 करोड़ में बनी 257 मीटर लंबी 10.40 चौड़े ब्रिज की तीसरी भुजा

अगले माह मिलेंगी एक ओर भुजा की सौगात...

इंदौर। अगले माह गाडीअड्डा ब्रिज की तीसरी भुजा की सौगात शहरवासियों को मिल सकती है। 5 करोड़ में 257 मीटर लंबे और 10.40 मीटर चौड़ी इस तीसरी भुजा का काम तीन साल पहले शुरू किया गया था। जिसका काम कोरोना महामारी के कारण प्रभावित हो गया था। पोल शिफ्टिंग ओर रंगरोगन का काम शेष बचा है।
तीन साल से ज्यादा समय में गाड़ी अड्डा रेल ओवरब्रिज की तीसरी भुजा बनाने का काम पूरा नहीं हो पा रहा है। पहले लाकडाउन ने काम को प्रभावित किया तो बाद में फंड की कमी के कारण भुजा का काम पिछड़ गया था। अब यहां पर पोल शिफ्टिंग के साथ ही सड़क का कुछ काम बाकी है। इसके बाद रंगरोगन कर अगले माह तक इसे जनता के लिए खोल दिया जाएगा। तमाम रुकावटों के बाद हाथीपाला की तरफ बन रही इस भुजा का काम अंतिम चरणों मे पहुंच गया है। लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाए जा रहे इस ब्रिज से वाहन चालकों को दो किलोमीटर घूम कर नही जाना पड़ेगा। इसके निर्माण पर विभाग लगभग पांच करोड़ रुपये खर्च किए है। वर्तमान में निर्माण अधूरा होने के कारण खुदी सड़क और मलबे के कारण धूल से दुकानदार और रहवासी परेशान है। इनका कहना है कि इससे ग्राहकों का आना-जाना कम हो गया है। गाडीअड्डा रेलवे की तीसरी भुजा इसलिए जल्द बनना जरूरी है क्योंकि इससे हाथीपाला तरफ के लोगों को ब्रिज पर चढ़ने-उतरने के लिए एक किलोमीटर रावजी बाजार तक नहीं जाना पड़ेगा। इससे यातायात भी प्रभावित नही होगा वही वाहन चालको को घूम कर नही जाना पड़ेगा।

कनाड़िया से खजराना गणेश मंदिर सड़क निर्माण शुरू, 10 करोड़ खर्च होंगे

इंदौर। नगर निगम द्वारा कनाड़िया से गणेश मंदिर के निर्माण कार्य को पूरी गति से शुरू कर दिया है। इसे 6 माह में बनाया जाएगा। इस पर 10 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इस रोड के बनने से खजराना गणेश मंदिर जाने वाले भक्तों को अब आसानी होगी। साथ ही रिंग रोड पर भी वाहनों का दबाव कम होगा।
नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल ने इस मामले में जानकारी देते हुए बताया कि लगभग डेढ़ किमी लंबी यह सड़क 18 मीटर चौड़ी बनाई जा रही है। इस पर 10 करोड़ रुपए की राशि खर्च होनी है। इसमें से 5 करोड़ रुपए खजराना गणेश मंदिर समिति द्वारा दिया जा रहा है। शेष राशि नगर निगम द्वारा खर्च की जाएगी। इस मार्ग पर अभी पुलिया का निर्माण वाटर लाइन, फुटपाथ और इलेक्ट्रिक लाइन हटाई जानी है। इसकी शिफ्टिंग के बाद ही यहां पर कार्य शुरू हो पाएगा। अभी खुदाई का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। यह मार्ग उच्च गुणवत्ता के साथ ही सुंदर मार्गों में भी अपनी पहचान बनाएगा।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.