बिटक्वाइन अवैध मुद्रा घोषित

आईएमएफ के ऐलान के बाद भारतीयों के छह लाख करोड़ पर संकट

मुंबई। अंरराष्ट्रीय मुद्राकोष द्वारा बिटक्वाईन के लेन-देन को लीगल टेंडर नहीं मानते हुए इसे अवैध मुद्रा घोषित किया गया। इसके चलते भारत में बिटक्वाईन के कारोबार में लेन-देन कर रहे 6 लाख करोड़ रुपए अब उलझने के हालात पैदा हो गए है। भारत सरकार ने अभी तक बिट क्वाईन को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया है।
आईएमएफ ने यह सूचना अलसल्वाडोर के उस फैसले के बाद लिया है जिसमें अलसल्वाडोर ने इसे लीगल टेंडर घोषित किया था। आईएमएफ का कहना है कि यह पूरी तरह अवैध मुद्रा है। इधर दूसरी और बिटक्वाईन की कीमतों में भी लगातार गिरावट हो रही है। 79 हजार डालर से इसकी कीमत घटते हुए 36 हजार डालर तक रह गई है। देशभर में पिछले कुछ सालों से बड़ी तादाद में लोग बिटक्वाइन में पैसा लगा रहे थे।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.