23 हजार वर्गफीट जमीन पर आकार लेगा 5 मंजिला सर्वसुविधायुक्त शापिंग काम्प्लेक्स

24 करोड़ की लागत से होगा निर्माण, जल्द शुरु होगा काम

इंदौर।  प्रदेश की व्यवसायिक राजधानी महानगर इंदौर का जिस तीव्र गति से विस्तार हो रहा है, उसके चलते व्यवसायिक गतिविधियां संचालित करने के लिए लंबे अरसे से नए बाजारों, शापिंग काम्प्लेक्स, हाकर्स जोन की मांग भी बढ़ रही है। इसी के चलते अब शहर में प्रमुख व्यवसायिक केंद्र सियागंज में २३ हजार वर्गफीट जमीन पर २४ करोड़ की लागत से ५ मंजिला सर्वसुविधायुक्त शापिंग काम्प्लेक्स आकार लेगा। इसके लिए टैंडर हो चुके है और इसी सप्ताह काम शुरु होने जा रहा है।
सूत्रों के मुताबिक, मध्यप्रदेश गृह निर्माण एवं अधोसंरचना विकास मंडल द्वारा महानगर में व्यवसायिक गतिविधियों के संचालन हेतु पांच मंजिला शापिंग काम्प्लेक्स बनाने जा रहा है। इसके लिए तमाम औपचारिकताएँ पूरी कर ली गई है। इतना ही नहीं, न्यू सियागंज में इस शापिंग काम्प्लेक्स के निर्माण के लिए न केवल आबकारी विभाग से २० करोड़ रुपए में जमीन खरीदकर आधिपत्य प्राप्त कर लिया है, बल्कि हाउसिंग बोर्ड टैंडर निकालने के बाद इसका ठेका भी दे चुका है। संभवत: इसी सप्ताह यहां निर्माण कार्य भी शुरु हो सकता है। बताया जाता है कि शापिंग काम्प्लेक्स में पार्किंग के लिए भी विशेष इंतजाम किए जाएंगे इसके लिए योजना तैयार कर ली गई है। इसके चलते क्षेत्र में पार्किंग की व्यवस्था में भी सुधार होगा।

१०० दुकानों के साथ किया जाएगा कार्पोरेट हाल का भी निर्माण
यहां पर यह प्रासंगिक है कि सियागंज में दाल-चावलस, तेल, शकर, किराना एवं ड्रायफ्रुट आदि का थोक कारोबार होता है। यहां कारोबार तो बढ़ रहा है,च लेकिन दुकानें, काम्पलेक्स सीमित ही है। इसके चलते आबकारी विभाग के पुराने वेयर हाउस की जमीन पर इस काम्पलेक्स का निर्माण किया जा रहा है। इस काम्पलेक्स में १०० बड़ी दुकानों के साथ ही कार्पोरेट हाल का निर्माण भी किया जाएगा। इसके अतिरिक्त तमाम बुनियादी सुविधाएँ भी मुहैया कराई जाएगी। भोपाल की कंपनी इसका निर्माण कार्य शुरु करने जा रही है।

निर्माण होने से पहले शुरु हो गया शापिंग काम्प्लेक्स का विरोध
अभी शापिंग काम्पलेक्स का निर्माण नहीं हुआ है लेकिन इसके पहले ही इसका विरोध शुरु हो गया है। सियागंज होलसेल किराना मर्चेन्ट एसोसिएशन के पदाधिकारियों का कहना है कि यहां पहलेच ही इतनी दुकानें है कि वाहन पार्क करना मुश्किल होता है। यदि यहां पर शापिंग काम्पलेक्स का निर्माण किया गया तो यह समस्या और विकराल हो जाएगी। इसके बजाए प्रस्तावित जमीन पर पार्किंग बना देनी चाहिए। अब देखना यह है कि आगे आगे होता है क्या?

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.