investors summit 2022 indore: इन्वेस्टर समिट से पहले निवेश के लिए तैयार हुए उद्योगपति

मुख्यमंत्री को कई उद्योगपतियों ने निवेश पर दी सहमति

investors summit 2022 indore
investors summit 2022 indore

इंदौर investors summit 2022 indore। इंदौर में 10 और 11 जनवरी को ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में देश विदेश के ज्यादा से ज्यादा उद्योगपतियों को जोड़ने के प्रयास किए गए हैं। आयोजन के लिए सिंगापुर, यूएस, यूएई, यूके, साउथ कोरिया, इजरायल सहित कई देशों से चर्चा की गई है। वहीं स्थानीय उद्योगपतियों ने समिट से पहले ही अपने निवेश को लेकर सहमति दे दी है।
प्रदेश सरकार ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट की तैयारी में जुट गई है।

इस इन्वेस्टर्स समिट में देश के बड़े उद्योगपतियों के अलावा विदेशों के उद्योगपतियों को भी बुलाने की तैयारियां की जा रही है। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह से मुलाकात में अब तक 4 स्थानीय निवेशकों ने अपने निवेश पर सहमति दे दी है। investors summit 2022 indore

सूत्रों के मुताबिक इन्दौर, देवास, पीथमपुर से लेकर बुरहानपुर तक निवेश का रोडमेप तैयार हो गया है। कई दिग्गज कंपनियों की सहमति पर ग्लोबल समिट के दौरान एमओयू साइन किए जाएंगे। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री को मेसर्स एचईजी लिमिटेड मंडीदीप के प्रमोटर रिजु झुनझुनवाला ने उनकी कंपनी की इकाई ग्रेफाइट एनोड के विनिर्माण के लिए प्रदेश में 1800 करोड़ रूपए का निवेश करने के लिए देवास जिले के ग्राम सिरसौदा में इस परियोजना के प्रथम चरण में 800 करोड़ तथा द्वितीय चरण में एक हजार करोड़ रूपए का निवेश करने का फैसला लिया है। इस प्लांट की वार्षिक उत्पादन क्षमता 20 हजार मीट्रिक टन होगी।

168 करोड़ का निवेश

मेसर्स रमणीक पॉवर एण्ड एलॉयज प्रा. लि. बालाघाट के डायरेक्टर निश्चल त्रिवेदी अपनी कंपनी द्वारा बालाघाट के ग्राम सरंडी में 168 करोड़ रूपए का निवेश प्रस्तावित कर चुके हैं। उनकी कंपनी में सिलिको एलॉयज का उत्पादन होगा।

दो साल बाद शुरू होगा उत्पादन

एक जनवरी 2025 तक प्रथम चरण का उत्पादन शुरू होगा और एक जनवरी 2028 तक परियोजना को पूरा कर लिया जाएगा। इसमें लगभग 400 लोगों को रोजगार मिलेगा। वहीं मेसर्स एलम सोलर नई दिल्ली के सीईओ मनोज अग्रवाल दो चरणों में 1500 मिलियन यूएस डालर का निवेश करने की योजना बना चुके है। लगभग 500 एकड़ में स्थापित प्लांट में 400 मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा और 15 हजार से 20 हजार लोगों को रोजगार मिल सकेगा। investors summit 2022 indore

1100 को मिलेगा रोजगार

मेसर्स बुरहानपुर टेक्सटाईल्स लिमिटेड के मेनटोर ओमप्रकाश मित्तल की कंपनी द्वारा ग्राम फतेपुर, जिला बुरहानपुर में यार्न, ट्वीस्टेड यार्न, ग्रे-फेब्रिक, आरएफडी फेब्रिक, साड़ी धोती व जॉब वर्क, पैलेट्स उत्पादन पर 297 करोड़ 86 लाख रुपए के निवेश का प्रस्ताव है, इससे 1100 व्यक्तियों को रोजगार मिलने की संभावना है। इनके अलावा कई विदेशी कंपनियां भी मध्य प्रदेश में निवेश पर अपनी सहमति दे चुकी है, जिनके एमओयू ग्लोबल इन्वेस्टर समिट के दौरान साइन किए जाएंगे।

Also Read – पत्रकारिता की पवित्र परंपराओं और निर्वहन के संकल्प का दिन सभी का आभार

प्रवासी सम्मेलन: शहर के बाहर भी कई होटल आरक्षित होगी

इंदौर (pravasi bhartiya divas)। शहर में आगामी 8 जनवरी से 14 जनवरी तक आयोजित होने प्रवासी भारतीय संम्मेलन और बाद में होने वाली ग्लोबल इन्वेस्टर समिट के लिए इंदौर के बाहर भी होटल आरक्षित कराई जा रही है। शहर में होटल कम पड़ने की स्थिति में आसपास देवास, उज्जैन, महू, मांडू आदि शहरों में भी ठहरने की व्यवस्था की जा रही है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 9 जनवरी को सम्मेलन को लेकर विशेष डाक टिकट जारी करेंगे। 

प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए तैयारियों में शहर व नगर सरकार जुट गई है। अब एक माह ही इस आयोजन को बाकी रह गया है। सरकार की तरफ से भी कई होटल बुक किए जा रहे हैं। इंदौर शहर की कई बड़ी होटलों ने भी मेहमानों के लिए अपने किराए में छूट दी है।

वहीं आयोजन के दौरान आरक्षित की गई किसी भी होटल में अन्य लोगों को रूम बुक करने की सुविधा नहीं मिल पाएगी। राज्य की ओर से होटलों के किराए की दर विदेश मंत्रालय को पहले ही भेजी जा चुकी है। शहर में होटल कम पड़ने की स्थिति में शहर के आसपास देवास, उज्जैन, महू, मांडू आदि शहरों में भी ठहरने की सुविधा मिल पाएगी। क्योंकि इसी दौरान इंदौर में प्रवासी सम्मेलन के बाद ही इन्वेस्टर्स सम्मिट भी होने जा रही है। 8 से 14 जनवरी तक कई विदेशी मेहमान इंदौर में ही रुकने वाले हैं।

इंदौर के सितारा होटलों ने सम्मेलन के लिए बुक होने वाले अपने कमरों का किराया भी कम कर दिया है। दरअसल राज्य की ओर से पहले कमरों के किराए की दर विदेश मंत्रालय को भेजी थी। विदेश मंत्रालय ने दर ज्यादा बताते हुए आपत्ति ली थी कि अहमदाबाद, सूरत, पूणे जैसे अन्य टियर टू शहरों के मुकाबले इंदौर की होटलें महंगी है।

125 से ज्यादा व्यंजन होंगे

सम्मेलन में आने वाले मेहमानों के लिए 56 दुकान क्षेत्र को आकर्षक रोशनी से सजाया जाएगा। यहां मेहमानों को खातिरदारी के लिए 56दुकान में सवा सौ से ज्यादा व्यजंन होंगे। खानपान के दोनों बाजारों में अलग-अलग प्रकार के इन व्यंजनों के स्वाद मेहमानों को काफी प्रभावित करेंगे। इसमें 56 दुकान की सिग्नेचर डिश भी खासतौर पर रहेगी।

ये रहेगा नाश्ते का मीनू

नाश्ते के रुप में आलू, दाल व बटले की कचौरी, आल व मावे के समोसे, आलूबड़ा, पेटिस, बड़ा पाव, मौमोस, पानी पुरी आदि उपलब्ध रहेगी। देशी घी से बनी जलेबी, इमरती, सीताफल रबड़ी, उत्तपम, बड़ा सांभर, इडली पाव आदि रहेंगे।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.