Khajrana’s laddu shops: सराफा से महंगी हो गई खजराना की लड्डू दुकानें

खजराना मंदिर में 1.72 करोड़ रुपए की दुकान ने बता दिया लड्डू का कारोबार

Khajrana's laddu shops
Khajrana’s laddu shops

Khajrana’s laddu shops इंदौर। खजराना गणेश मंदिर में कल एक दुकान 1 करोड़ 72 लाख रुपए में बिकी। इसकी कीमत एक करोड़ 72 लाख रुपए रही। इंदौर विकास प्राधिकरण ने दुकान के टेंडर बुलाए थे और लड्डू के एक व्यापारी ने सबसे अधिक बोली लगा दी। जहां दुकान की कीमत जानकर यह कहा जा सकता है कि सोने से महंगा अब लड्डू का कारोबार हो गया है। सराफा से महंगी दुकानें खजराना मंदिर में अब बिकने लगी है। मंदिर में हर दिन 50 से 60 हजार भक्त दर्शन के लिए पहुंचते हैं जबकि बुधवार को यह संख्या डेढ़ से दो लाख होती है। हर दिन 50 से 60 क्विंटल लड्डू यहां भगवान को चढ़ाए जाते हैं। जबकि बुधवार को 100 क्विंटल तक आंकड़ा पहुंच जाता है। कल सूर्य ग्रहण के बाद 5 लाख भक्त मंदिर में पहुंचे थे। परिसर में 60 दुकानें प्रसाद व पूजा सामग्री की हैं।

प्रथम पूज्य भगवान गणेश के दर्शन पूजन के लिए वैसे तो हर दिन बड़ी संख्या में भक्त खजराना मंदिर पहुंचते हैं मगर बुधवार, शनिवार और रविवार को आंकड़ा अधिक होता है। प्राधिकरण ने यहां खाली पड़ी दो दुकानों को बेचने के लिए 30 लाख रुपए आफसेट प्राइज रखी थी मगर जब टेंडर खुले तो एक व्यापारी ने 1 करोड़ 72 लाख रुपए की कीमत लगा दी जिससे यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि मंदिर में लड्डू का कारोबार कितना अधिक है। जब टेंडर खोले गए तो कीमत देखकर अधिकारी भी चौेंक गए। Khajrana’s laddu shops

Also Read – Peace Point Township: पीस पाइंट टाउनशिप में सरकारी जमीन-नाला दोनों बेच दिए

प्राधिकरण ने दो दुकानें यहां बेची। देवेन्द्र राठौड़ ने सबसे अधिक बोली लगाई जबकि अन्य ने इससे कम बोली लगाई। राठौर खजराना गांव के ही रहने वाले हैं। मंदिर में लड्डू का कारोबार कितना अधिक है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि डेढ़ से दो लाख भक्त हर बुधवार को यहां पहुंचते हैं और करीब 100 क्विंटल लड्डू भगवान को एक दिन में चढ़ जाते हैं जबकि हर दिन 50 से 60 हजार भक्त मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचते हैं और 50 से 60 क्विंटल लड्डू का कारोबार हर दिन होता है। लड्डू का भाव 300 से 350 रुपए किलो तक होता है जबकि मोदक, फूलमाला, नारियल, अगरबत्ती आदि पूजन सामग्री भी बड़ी मात्रा में हर दिन बिकती है।

लड्डू व्यापारियों पर आयकर की नजर

इधर अब तक की सबसे महंगी दुकान बिकने के चलते जहां प्रशासनिक अधिकारी और दूसरे व्यापारी आश्चर्य में हैं वहीं आयकर विभाग भी सख्ते में हैं और अधिकारियों के कान खड़े हो गए कि इतनी महंगी दुकान कैसे बिक गई। क्या लड्डू का कारोबार इतना अधिक है कि यहां एक दुकान 1 करोड़ 72लाख में बिक गई। बताया गया है कि कल ही आयकर विभाग के अधिकारी यह खंगालने में जुट गए थे कि खजराना मंदिर के लड्डू के व्यापारी कितना आयकर भरते हैं और इनकी आय हर दिन कितनी होती है। सूत्रों का कहना है कि 60 दुकानदारों में से कुछ दुकानदार ही आयकर भरते हैं, ऐसे में अब दुकानदारों पर आयकर की भी नजर पड़ गई है।

90 फीसदी नई गाड़ियां पहुंचती हैं पूजन के लिए

शहर में जितने भी लोग नई गाड़ियां खरीदते हैं उनमें 90 फीसदी सबसे पहले खजराना मंदिर जाते हैं और पूजा-अर्चना करते हैं। ऐसे भक्त भी 5 से 10 किलो लड्डू खरीदते हैं। शहर में 400 से 500 वाहन हर दिन बिकते हैं जिनमें 100 से 150 कारें होती हैं, इनके अलावा दुपहिया वाहन और अन्य वाहन भी सैकड़ों की संख्या में बिकते हैं। लोग पूजा के लिए मंदिर जरूर पहुंचते हैं। सबसे महंगी दुकान बिकने के पीछे सबसे बड़ा कारण यही है कि लड्डू का कारोबार यहां सबसे अधिक है और व्यापारी हर दिन हजारों रुपए का कारोबार यहां करते हैं।

गणेश चतुर्थी, तिल चतुर्थी, नए साल पर पहुंचते हैं लाखों भक्त

पूरे साल में गणेश चतुर्थी, नया साल और तिल चतुर्थी पर एक दिन में 4 से 5 लाख भक्त दर्शन के लिए मंदिर पहुंचते हैं। लगभग हर भक्त आधा किलो लड्डू चढ़ाता है और कई भक्त ऐसे भी हैं जिनकी मन्नतें होने पर कई किलो लड्डू चढ़ा देते हैं। बुधवार को यहां कई भक्त ऐसे आते हैं जहां 11 से 21 किलो लड्डू चढ़ाते हैं और बच्चों को भी तौलते हैं। वजन के हिसाब से ही लड्डू चढ़ाए जाते हैं। मंदिर परिसर में करीब 60 दुकानें हैं और हर दुकानदार एक दिन में हजारों का व्यापार करता है। बुधवार को यह आंकड़ा लाख के ऊपर भी पहुंच जाता है। Khajrana’s laddu shops

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.