Jharkhand News: झारखंड में राष्ट्रपति शासन की तैयारी

राज्यपाल दिल्ली पहुंचे, हेमंत सोरेन की कुर्सी जाना तय

(Jharkhand News: )

नई दिल्ली/रांची (ब्यूरो)।

 सियासी घमासान के बीच राज्यपाल रमेश बेस दिल्ली पहुंच गए हैं जहां वे राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मिलकर राज्य में राष्ट्रपति शासन की अनुशंसा कर सकते हैं। इसके बाद झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की उलटी गिनती शुरू हो जाएगी।

Hemant Soren
Hemant Soren


झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को चुनाव आयोग ने विधायक पद से अयोग्य घोषित कर दिया। इसके बाद ही सियासत गरमा गई। उधर सोरेन की मंशा है कि वे इस्तीफा देकर फिर शपथ लें और छह माह के भीतर चुनाव कराकर मुख्यमंत्री बने रहें, लेकिन राज्यपाल ऐसा नहीं चाहते।

ऐसे में 5 सितंबर को होने वाले विश्वासमत से पहले राज्यपाल हेमंत सोरेन को अयोग्य घोषित करने का फैसला सुना देंगे, तो संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन विधायकदल में भगदड़ मच सकती है। चूंकि भाजपा के पास भी बहुमत नहीं है, इसलिए राष्ट्रपति शासन की प्रबल संभावना है। उधर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को कांग्रेस के विधायकों की निष्ठा पर भरोसा नहीं है। पार्टी के 18 में से 3 विधायक पश्चिम बंगाल में भारी रकम के साथ पकड़े गए थे। हालांकि वहां की अदालत ने सुनवाई होने तक उन्हें बंगाल छोड़ने से रोक दिया है। राज्य कांग्रेस ने उन्हें पार्टी की सदस्यता से भी निलंबित कर दिया है। ऐसे में सोरेन के पक्ष में वोट नहीं दे पाएंगे। 

Also Read – अब फ्रॉड रजिस्ट्री : जालसाजी होते ही मोबाइल, ऐप फ्रीज हो जाएंगे

 झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र जुलाई के आखिर में संपन्न हुआ। इस सत्र में सरकार ने अनुपूरक बजट पास कराया। यह धन विधेयक था। इसके अलावा कई विधेयक भी पारित हुए। विधेयकों का बहुमत से पारित होने के साथ यह माना जाता है कि सरकार को सदन का विश्वास प्राप्त है और अगले छह महीने के अंदर सरकार को विश्वास प्रस्ताव लाने या विश्वास मत हासिल करने की कोई आवश्यकता नहीं है। (Jharkhand News: )

झामुमो की केंद्रीय समिति के सदस्य सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा, ‘मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में महागठबंधन की सरकार राज्य की सवा तीन करोड़ जनता द्वारा लोकतांत्रिक रूप से चुनी हुई है। विधानसभा के विशेष सत्र में बहुमत साबित करके सरकार राज्य की जनता को यह गारंटी देगी कि उनकी चुनी हुई सरकार बहुमत में है और लोक कल्याणकारी कार्य करती रहेगी।’

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.