वार्डों से पहले चरण में उम्मीदवारों को चयनित किया गया 300 नाम निकाले

निकाय चुनाव: कांग्रेस आरक्षण होते ही मैदान में उतरे दावेदार

इंदौर। वार्ड आरक्षण होते ही कांग्रेस से चुनाव लड़ने वालों ने मोर्चा संभाल लिया है। नगर निकाय के 85 वार्डों में कांग्रेस के 4 से छह दावेदार सक्रिय हैं। किसी वार्ड में नेता खुद के लिए तो किसी वार्ड में पत्नी और रिश्तेदारों के लिए टिकट की दावेदारी जता रहे हैं। इतना ही नहीं टिकट पाने की जुगाड़ के चलते नेताओं ने अपने राजनीतिक आकाओं के दरवाजे पर धोक देना भी शुरू कर दिया है। ऐसे में अब देखना यह है किसका चुनाव लड़ने का सपना पूरा होता है और जीत किसके खाते में आती है।
तीन वर्षों से अटके पड़े नगर निगम चुनाव के चलते दोनों ही प्रमुख पार्टियों के वार्ड स्तर की गतिविधियां ठप पड़ी थी। जैसे ही नगर निकाय चुनाव का बिगुल बजा है, वार्डो में टिकट की चाह रखने वाले दावेदारों की हलचल शुरू हो गई। दिल्ली और पंजाब में फतेह हासिल करने वाली आप पार्टी ने भी अपनी सक्रियता बढ़ा दी है। वहीं बड़ी संख्या में उसके कार्यकर्ता नजर आने लगे हैं। ऐसे में आने वाले नगर निगम चुनाव त्रिशंकु होने की संभावना प्रबल हो गई है। मप्र कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा निकाय चुनाव के लिए बनाए गए संभागीय प्रभारियों को वार्डों से सिंगल प्रत्याशी का चयन कर सूची भोपाल मुख्यालय भेजने के निर्देश दिए गए हैंै। 2020 में हुए आरक्षण के बाद कांग्रेस में लगभग 50 वार्डों में सिंगल नाम तय होकर शेष 35 वार्डों में समन्वय बिठाने के प्रयास किए जा रहे थे। कितने ही दावेदारों ने कोरोना काल मे जरूरतमंद लोगों को इलाज के दौरान सहायता करने के साथ आर्थिक सहयोग किया गया। लॉकडाउन के दौरान राशन सामग्री के साथ मास्क सेनेटाइजर का वितरण के साथ ग्रीष्मकाल में पानी के टैंकर भी चलाए, परन्तु चुनाव निरस्त होते ही दावेदारों का उत्साह भी कम होता चला गया। वहीं वार्डों में राजनीतिक गतिविधियों में भी विराम लग गया। एक बार फिर चुनाव की रणबेदी सजते हैं। दावेदारों ने फिर से चुनावी घुंघरू बांध लिए हैं। वहीं कांग्रेस से विधायक संजय शुक्ला के महापौर प्रत्याशी लग भाग तय होने से भी दावेदारों में उत्साह देखने को मिल रहा है।

ये देख रहे टिकट के सपने
दैनिक दोपहर की टीम को शहर के 85 वार्डों में जांच पड़ताल के बाद कांग्रेस के दावेदारों के जो नाम सामने आए हैं उसमें विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 1 से गोलू अग्निहोत्रि, माखन चौधरी, जाकिर रंगरेज, शंकर नैनावा, मुबारिक अंसारी, रफीक खान, इमामुद्दीन तिगाला, संजय दुबे, राधा पाटीदार, राजेश मेवाडा, मुकेश यादव, वंदना शुक्ला, महावीर जैन, विपिन गंगवाल, योगेंद्र मौर्य, प्रदीप दुबे, मुकेश सोलंकी, राकेश वर्मा, सुनील गोदा, महेश शर्मा, सोनिया शुक्ला, अनिल शुक्ला, अनवर दस्तक, गुलरेज अली, प्रेम खडायता,अद्दू भाई, सरवर खान, नावेद जायसवाल, दीपू यादव, विजेंद्र यादव, रमेश बिंजवा, शुभम सांवरिया, कोमल सोनी, संजय यादव, बाबूलाल यादव, राजेश भंडारी, प्रमोद द्विवेदी, बच्चा यादव, दीपक गुर्जर, अशोक जाट, अभिमन्यु शुक्ला, सुभाष सुनेर, मयंक यादव, कृष्णा गौर, शिवम केके यादव, संतोष यादव, राजा कुशवाह प्रमुख हैं।

ये भी उतरेंगे मैदान में
विधानसभा क्षेत्र क्रमांक दो से चिंटू चौकसे, राजू भदौरिया, विनोद चौकसे, भूपेंद्र चौहान, राजा पटेल, राजू जायसवाल, अशोक यादव जय गोपाला, अमित पटेल, गोपी यादव, विनीत मौर्य, पूजा चौकसे, बंटी रेशवाल, अतीत गोहर, गुंजा रघुवंशी, बब्बू यादव, विकास जाटवा, मुकेश यादव, कपिल हेड़ाऊ, मनोज जाधव, शैलेष केमरे, गोविंद परिहार, पुखराज राठौर, कोमल यादव, शिव गुजर। विधानसभा तीन से छोटू शुक्ला, छोटे यादव, अरविंद बागड़ी, अनवर कादरी, अनुरोध जैन, गुलाब सोनकर, अंसाफ अंसारी, नीलेश पटेल, अनूप शुक्ला, कृतिका अमित चौरसिया, परिधि जैन, रोहित जोशी, सपना सोनू यादव, नीलेश शैलू सेन, मुकेश जैन, विवेक खंडेलवाल, शैलेष गर्ग, राम यादव, जगदीश साकी, दिनेश कुशवाह, पारस बुढ़ाना, सुजीत शर्मा, मनीष बौरासी, सन्नी पठारे, रमेश घाटे, अनिल बारिया, रवि व्यास,मंसूर अली, शावेज खान, वीरू झांझोट, बागड़ी, विनय मावने, गुलाब सोनकर, नवरत्न सोनकर, मुन्ना अंसारी, शाहबाज आलम, नितिन वर्मा, जयराज प्रधान, विशाल चतुर्वेदी, विमला अशोक चतुर्वेदी, गौरव शर्मा, रश्मि वर्मा, सत्यनारायण सलवाडिया।

चार में सबसे ज्यादा
विधानसभा चार से अयाज बैग, सादिक खान, रूबल चड्डा, रमीज खान, इम्तियाज बेलीम, मधुसूदन भलिका,धर्मेंद्र बाजपाई, घनश्याम जोशी, नितेश राजोरिया, धर्मेंद्र गेंदर, आकाश जायसवाल, अशोक वर्मा, सलीम शेख, रविकांत मिश्रा, मनीष मिंडा, अभिजीत भंवर शर्मा, प्रकाश पटेल, राकेश कौतुक, सुनील पाल, गोलू सिरसवाल, गौरव दुबे, गोपाल कोडवानी, आतिश बिंजवा, गिरीश जोशी, अर्चना राठौर, जया तिवारी, रिचा शर्मा, राजकुमार टांक, निलेश भूतड़ा, सचिन यादव, सुभाष यादव, गुरजोत सिंह गिल, तत्सम भट्ट। विधानसभा पांच से शेख अलीम,अभय वर्मा,वैशाली जाधव, राहुल गोलाने,अन्नू पटेल, गोलू पठान,अंसार पटेल, रुबीना इकबाल खान, वाहिद अली, अशोक यादव, चेतन मुकाती, अनिल पाटीदार, विजय पालीवाल, राकेश जोशी, किरण जिरेती, संतोष वर्मा, पिंटू मिश्रा, बादशाह मिमरोट, सोनाली मिमरोट, कन्हैया मिमरोट, हंसराज गंगवाल, रूपेश लोदवाल, अर्चना जिनवाल, रचना नागवंशी, भरत जिनवाल, विजय घुंघराले,गणपत जारवाल,अशोक जारवाल,रवि वर्मा,मोहिंदर वर्मा, मनोज कटारिया, रिंकू बाथरी, कमल वर्मा, बबलू दीक्षित, नट्टू चौधरी,अनूप शुक्ला, संजीव सेठ, अंकित दुबे, झेनेश झांझरी, आशीष चौधरी, विजय राठौर, संतोष यादव, विनय छोटे यादव,राजू गोयल, दौलत खेड़ा, सचिन सिलावट, सुभाष सिरसिया। राऊ विधानसभा से चंद्रकला मालवीय, सीमा मालवीय, धीरज चौहान, दिलीप कौशल, कुणाल सोलंकी, आशीष पटवारी, संजय कामले, संजय मिश्रा, वहीं सांवेर विधानसभा से कपिल सोनकर अन्य वार्डों में कांग्रेस के सक्रिय उमीदवार नहीं दिखेे।

इसके अलावा भी कई तैयार
यह वह नाम है जो दैनिक दोपहर की टीम को विभिन्न वार्डों से संज्ञान में आए हैं। इसके इलावा भी अन्य दावेदार सक्रिय होकर कांग्रेस से टिकट की चाह में मैदान संभाले हुए हैं। बाकी कांग्रेस में चुनाव जीतने में जितनी मेहनत नहीं लगती उसे अधिक टिकट लाने में दावेदारों के पसीने छूट जाते हंै। अब इनमें से कितने भाग्यशाली चुनावी मैदान में कांग्रेस के चुनाव चिन्ह पर लड़ेंगे, यह तो आने वाला समय बताएगा।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.