football world cup 2022 final: मेसी और एमबाप्पे के बीच होगी टक्कर

football world cup 2022 final
football world cup 2022 final

कतर। फीफा वर्ल्ड कप 2022 अपने समापन की ओर बढ़ चला है। इसी कड़ी में 18 दिसंबर को लुसैल स्टेडियम में फाइनल मुकाबला खेला जाना है। इस फाइनल मुकाबले में अर्जेंटीना और फ्रांस की टीम आमने-सामने होंगी. अर्जेंटीना ने क्रोएशिया, जबकि फ्रांस ने मोरक्को को हराकर महामुकाबले में अपनी जगह बनाई है. फ्रांस की टीम मौजूदा चैम्पियन है और वह तीसरी बार खिताब जीतने की कोशिश करेगी। वहीं, अर्जेंटीना टीम भी 36 साल के सूखे को खत्म कर तीसरी बार चैम्पियन बनना चाहेगी।

फाइनल मुकाबले में दो स्टार्स के बीच दिलचस्प जंग होने होने जा रही है। एक फ्रांस के किलियन एमबाप्पे और दूसरे अर्जेंटीनी कप्तान लियोनेल मेसी. खास बात यह है कि मेसी और एमबाप्पे फ्रेंच क्लब पीएसजी के लिए क्लब फुटबॉल खेलते हैं। मेसी और एमबाप्पे ने अबतक कमाल का खेल दिखा पा रहे हैं जिसके चलते दोनों की ही टीम इस महामुकाबले के लिए क्वालिफाई करने में सफल रही है. एमबाप्पे 23 साल के हैं, लेकिन उन्होंने जिस तरह का प्रदर्शन किया है वह तारीफ के योग्य है. वहीं, मेसी का फॉर्म भी अपने पीक पर है।
एम्बाप्पे की खासियत उनकी स्पीड है। जिस तरह से वह गेंद को अपने कब्जे में रखते हैं उससे विपक्षी टीम के खिलाड़ियों को काफी मुश्किलें होती हैं। उधर 35 साल के मेसी अर्जेंटीना का भार अपने कंधों पर लिए हुए हैं। मेसी ने क्रोएशिया के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में अपना मैजिक दिखाया और स्पीड के साथ-साथ ड्रिब्लिंग से फैन्स का दिल जीत लिया. क्रोएशियाई डिफेंडर जोस्को ग्वार्डियोल को छकाते हुए उन्होंने अल्वारेज को जो पास दिया था वह सच में किसी जादू की तरह था.football world cup 2022 final

football world cup 2022 final
kylian mbappe vs lionel messi

दोनों ही प्लेयर गोल्डन बूट की रेस में: मेसी और एमबाप्पे की उम्र में लगभग 12 साल का फासला है. ऐसे में दोनों की तुलना करना फिलहाल सही नहीं होगा. ये अलग बात है कि एमबाप्पे अपनी टीम के लिए वर्ल्ड कप खिताब जीत चुके हैं, वहीं मेसी को पहले खिताब का इंतजार है. दोनों खिलाड़ियों का मौजूदा प्रदर्शन बताता है कि एक शेर है तो दूसरा सवा शेर मेसी और एमबाप्पे गोल्डन बूट की रेस में सबसे आगे हैं. 23 साल के एमबाप्पे ने फीफा वर्ल्ड कप में छह मैचों में अबतक पांच गोल किए हैं. एमबाप्पे ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक, जबकि डेनमार्क और पोलैंड के खिलाफ दो-दो गोल किए थे। वहीं, मेसी ने भी छह मुकाबलों में पांच गोल दागे हैं। मेसी ने सऊदी अरब, मेक्सिको, ऑस्ट्रेलिया और नीदरलैंड के खिलाफ गोल दागा था।

Also Read – शहर में अब तीन करोड़ की इलेक्ट्रिक सुपर स्पोर्ट्स कार,3 सेकंड में 100 की है रफ्तार

क्या मेसी ले पाएंगे पुराना बदला?

साल 2018 के विश्वकप में फ्रांस और अर्जेंटीना के बीच प्री-क्वार्टर फाइनल में मुकाबला हुआ था. उस मैच में फ्रांस ने अर्जेंटीना को 4-3 से हरा दिया था. फ्रांस ने जो चार गोल दागे थे उसमें से दो गोल किलियन एमबाप्पे ने किए थे. वहीं, मेसी उस मैच में कोई गोल नहीं कर पाए थे. आपको याद दिला दें कि 2018 विश्व कप एम्बाप्पे का पहला विश्व कप था और उन्होंने टूर्नामेंट में कुल 4 गोल किए थे. एमबाप्पे ने बाद में क्रोएशिया के खिलाफ फाइनल मुकाबले में भी एक गोल किया था. फाइनल में गोल दागने के साथ ही एमबाप्पे दूसरे सबसे कम उम्र के प्लेयर बन गए थे. अबकी बार देखना होगा कि किलियन एम्बाप्पे और लियोनेल मेसी में से कौन बाजी मारता है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.