‘माटसाब अब पकड़ेंगे आवारा ढोर!

लखनऊ (आर.बी.सिंह)। विधान सभा चुनाव के दौरान सबसे बड़ी समस्या के रूप में आवारा जानवरों का मामला सामने आने के बाद भाजपा और अन्य दल ने इसके हल को लेकर कई आश्वासन दिए थे। प्रधानमंत्री ने खुद कहा था, सरकार बनने के बाद आवारा गोवंश आय का साधन भी बनेंगे। अब नए आदेश के बाद उत्तर प्रदेश के शिक्षकों में भूचाल आ गया है। ताजा आदेश में मैनपुरी कलेक्टर ने कहा है कि हर महीने 3 दिन जिला शिक्षा अधिकारी अधिनस्थों के साथ आवारा गोवंश पकड़ेंगे।
23 मार्च को मैनपुरी कलेक्टर विनोद कुमार द्वारा जारी किए गए इस कार्यवृत में हर महीने 5, 15 और 25 तारीख को निराश्रित गोवंश पकड़ने के लिए जिला शिक्षा अधिकारी ब्लाक शिक्षा अधिकारी के साथ मिलकर अभियान चलाएंगे। स्वाभाविक है अधिकारी खुद तो आवारा सांड नहीं पकड़ेंगे, इस काम में अब स्कूली मास्टर भी लगाए जाएंगे। इस मामले में समाजवादी पार्टी ने कहा कि अब पता लगा कि प्रधानमंत्री का आवारा ढोरों को हटाने का यह मास्टर प्लान था, जिसके बारे में उन्होंने मैनपुरी सहित चार जिलों में घोषणा की थी कि चुनाव के बाद वे आवारा पशुओं से आय बढ़ाने का काम भी करेंगे। देखना होगा कि योजना किस हद तक लागू हो पाती है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.