गुस्ताखी माफ़-कई दिग्गज की सांसें अटक गई हैं…राऊ में समंदर आएगा….एक सलाम तो बनता है….

कई दिग्गज की सांसें अटक गई हैं…
इन दिनों कांग्रेस के एक बड़े नेता के कारण बाल कांग्रेस से लेकर युवा कांग्रेस तक घबराई हुई दिखाई दे रही है। मामला ऐसा है कि भिया के परिवार में उनकी धर्मपत्नी को कोरोना पॉजिटिव होने के बाद घर पर ही आइसोलेशन किया गया था। इस दौरान भी भिया जो है राजनीति करते रहे है। अब उन्होंने भी अपना कोरोना टेस्ट करवाया और उसी दिन वे सज्जन वर्मा से लेकर अन्य नेताओं के साथ भी गलबहिया करते रहे। एक ही कार में घूमते भी रहे। अब जब उनकी टेस्ट रिपोर्ट आई तो कई नेताओं के हाथ-पांव ठंडे हो गए। भिया तो अपने घर में आराम कर रहे है पर बाकी नेता न आराम कर पा रहे है न बाहर जा पा रहे है। एक नेता का कहना है कि भिया के चक्कर में सांप, छछुंदर जैसी हालत हो गई है। न घर के रह गए है और न घाट के। अब दो-चार दिन बाद कोरोना टेस्ट का खर्चा अलग उठाना पड़ेगा।
राऊ में समंदर आएगा….
इधर राऊ विधानसभा में पिछले दो बार से कांग्रेस का परचम लहरा रहा है तो वहीं इस बार यह सीट ज्योति बाबू के उम्मीदवार को दी जा रही है और इसी आधार पर उन्होंने अपनी तैयारी भी शुरू कर दी है। बताया जा रहा है समंदर पटेल जो पिछली बार मनासा से निर्दलीय चुनाव लड़ चुके थे और वे कांग्रेस से बाहर भी है। उन्हें ज्योति बाबू ने यहां से तैयारी करने का आश्वासन दिया है ऐसी खबरें बाजार में आ गई है। समंदर पटेल भी भाजपा को लेकर अभी से अपने रिश्ते बना रहे है। माना जा रहा है कि भाजपा के पास अब यहां उम्मीदवार भी नहीं है क्योंकि जब भाजपा की सुनामी चल रही थी उस दौरान जीतू जिराती बुरी तरह हार गए। अब ऐसे में यह सीट इस बार भाजपा की ओर से ज्योति बाबू के उम्मीदवार को दी जा रही है। जो भी हो समंदर पटेल के पास धन का अच्छा खासा समंदर भी है। खूब गंगा बहेगी जिन्हें भी नहाना है वे नहाते रहेंगे।
एक सलाम तो बनता है….
पिछले 40 साल से मालवा मिल सब्जी मंडी को हटाने के लिए कई निगम आयुक्त अपने पूरे प्रयास करके भी बाल बांका नहीं कर पाए और हर बार यह सब्जी मंडी और फैलती गई। 50 फीट के रोड पिछले 25 सालों से केवल 12 फीट की ही रह गई थी, परंतु इस बार निगम आयुक्त प्रतिभा पाल ने अपनी प्रतिभा का ईमानदारी से शानदार परिचय दिया और 40 साल से सड़क पर चल रही इस मंडी को अंतत: सड़क से मुक्त करवा दिया। इस मंडी को हटाने में पूर्व निगम आयुक्त सीबी सिंह से लेकर विनोद शर्मा और पी. नरहरि तक लगे रहे और बाद में मनीष सिंह ने भी प्रयास किए थे जो भी हो पिछले चार दिनों से सड़क खाली होने के बाद इस रोड से निकलने वालों की समझ में नहीं आ रहा है रोड इतना चौड़ा हो गया है। निश्चित रूप से निगम आयुक्त के इस साहसभरे निर्णय एक सलाम तो क्षेत्र के दुकानदारों से लेकर उस मार्ग से निकलने वाले हजारों वाहनों की ओर बनता है।

-9826667063

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.