राज्यसभा कौन…? इस बार कैलाश भारी

भोपाल (ब्यूरो)। मध्यप्रदेश से राज्यसभा सीट के लिए सियासत तेज हो गई है। थावरचंद गेहलोत के मंत्रिमंडल से इस्तीफे और कर्नाटक का राज्यपाल बनाए जाने के कारण उनकी सीट रिक्त हुई है।
राज्यसभा सांसद के लिए जिन नेताओं के नाम चल रहे हैं उनमें पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, पूर्व मंत्री अर्चना चिटनीस और पूर्व मंत्री लालसिंह आर्य का नाम भी चर्चाओं में है। उमा भारती बड़बोले बयानों के कारण चर्चा में रही है। अर्चना चिटनीस और लालसिंह आर्य चुनाव हार गए थे। बंगाल में प्रभारी रहते कैलाश विजयवर्गीय ने तीन सीट से बढ़ाकर पार्टी को 76 सीटें दिलवाई है, इसलिए इस सीट पर उनकी दावेदारी मजबूत मानी जा रही है। इसके अलावा संघ की ओर से कैलाश सोनी का भी नाम चल रहा है। थावरचंद गेहलोत की रिक्त सीट के लिए आदिवासी पद का उम्मीद््वार भाजपा देख रही है। संघ की प्रष्ठभूमि के बारे में भी विचार किया जा रहा है। भाजपा किसको टिकट देगी इसको लेकर अलग-अलग सवाल उठने लगे हैं। इस सीट के लिए अभी कोई नाम तय नहीं हो पाया है, लेकिन देश में कैलाश विजयवर्गीय का नाम सबसे आगे चल रहा है। कयासों के बीच विधानसभा चुनाव हार चुके लालसिंह आर्य भी राज्य सभा के लिए मजबूत दावेदार हो सकते हैं, क्योंकि थावरचंद गेहलोत एससी वर्ग से आते हैं और आर्य भी उसी वर्ग के हैं। लिहाजा उनकी दावेदारी मजबूत होती दिखाई दे रही है, लेकिन विधानसभा चुनाव में ग्वालियर, चंबल के नतीजों के बाद भाजपा ने लालसिंह आर्य को उसी वर्ग का अध्यक्ष बना दिया था, इसके बाद कैलाश विजयवर्गीय को भी मजबूत दावेदार के रूप में माना जा रहा है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.