90 दिनों में 100 सेक्सुअल ब्लैकमेलिंग की शिकायतें

न्यूड वीडियों रिकार्डिंग में फस रहे है शहर के युवा, की जा रही है मोटी वसूली

इंदौर (धर्मेन्द्रसिंह चौहान)।
लोगों को अचानक आ रहे न्यूड वीडियो कॉल के मामले में चौंकाने वाले आंकड़े सामने आ रहे है। न्यूड वीडियो कॉल कर ब्लैकमेल करने वालो के आंकड़ो में इन दिनों जबरजस्त इजाफा हो रहा है। पिछले 90 दिनों यानी तीन माह में 100 से ज्यादा इसकी शिकायते पुलिस को मिली है। इसमे हर उम्र के लोग शिकार हो रहे है। आमजन पुलिस द्वारा दी जा रही गाइडलाइन का पालन नही करने के कारण ऐसे मामलों की आंख्या बढ़ रही है।

प्रदेश की आर्थिक राजधानी ओर देश के सबसे स्वच्छ शहर में इन दिनों न्यूड वीडियो कॉल के बढ़ते मामले गंदगी फैला रहे है। क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक इंदौर में वीडियो कॉल के जरिए आपत्तिजनक हरकतें करने और फिर उसके जरिए ब्लैकमलिंग करने के मामले बढ़ते जा रहे हैं। अगर इस साल की बात करें तो जो आंकड़े सामने आए हैं, वो चौंकाने वाले है। सिर्फ 90 दिनों में ही 100 से ज्यादा ऐसे मामलों में प्रकरण दर्ज किए गए। इन मामलों में सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात तो यह है इनमें बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक इनका शिकार बन रहे हैं। वही कुछ हाई प्रोफाइल लोग भी इनके शिकारी बन चुके हैं लेकिन बदनामी के डर से सामने नहीं आ पा रहे हैं। जबकि कुछ लोगो ने बदनामी के डर से शहर तक छोड़ दिया है।इस मामले में क्राइम ब्रांच ने देश के अलग-अलग हिस्सों में इन आरोपियों को पकड़ने के लिए टीमें भेजी जा रही है। ताकि ऐसे लोगो को पकड़ कर सलाख़ों के पीछे डाल दिया जाए।
इसी सिलसिले में इंदौर क्राइमब्रांच की टीम दिल्ली एनसीआर नोएडा और राजस्थान के भरतपुर व मथुरा आगरा ग्वालियर जैसे इलाको में भेजी गई है। पिछले कई महीनों से साइबर ठग मोबाइल के ज़रिए लोगों से सेक्सुअल ब्लैकमेलिंग से वसूली के मामले हर दिन पुलिस के पास आ रहे है। वेबकैम, मोबाइल या वीडियो कॉल के जरिए किसी की सेक्स गतिविधियों या न्यूड तस्वीरों को रिकॉर्ड करके उसके जरिए ब्लैकमेल की शिकायतों में लगातार इजाफा हो रहा है। स्कूल और कॉलेज में पढ़ने वाले युवा, बिजनेसमैन, पॉलिटिक्स से जुड़े लोगों को आमतौर पर इस रैकेट का शिकार बनाया जाता है। इसे गिरोह के लोग इस बात का भी ध्यान रखते है कि मिस कॉल पर कौन जवाब देता है। वाट्सएप पर कौन कैसी चेट करता है। यूट्यूब पर कौन कौन सी साइड ज्यादा देखी जाती है। यह पता चलते ही कुछ लोग ऐसे लोगो को आसानी से अपना शिकार बनते है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.