सुपर स्पेशियलिटी और एमवाय हास्पिटल में एमआरआई-सिटी स्कैन मशीन का इंतजार

मरीजों को नहीं मिल रही सुविधा, टेंडर निरस्त होने से परेशानी बरकरार

इंदौर। प्रदेश के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल एमवाय एवं सुपर स्पैशियलिटी हास्पिटल में मरीजों के लिए बहुउपयोगी एमआरआई एवं सिटी स्कैन मशीन का इंतजार दो साल बाद भी खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। इसके चलते जहां मरीज स्वास्थ्य सुविधाओं से वंचित हैं, वहीं इन मशीनों के लिए जारी टेंडर निरस्त हो जाने से भी परेशानी बरकरार है।
उल्लेखनीय है कि महानगर के महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय एवं सुपर स्पैशियलिटी हास्पिटल में गंभीर मरीजों के लिए आउट सोर्स के माध्यम से नई सिटी स्केन मशीन एवं टेस्ला एमआरआई मशीन लगाई जानी थी। इसके लिए दिसंबर २०२० मेें टैंडर भी जारी हो गए थे। बावजूद इसके जिस कंपनी को इन मशीनों के स्टालेशन का ठेका मिला था, वह तय समय सीमा में इसे स्थापित ही नहीं कर पाई। इसके चलते अब इसका टेंडर निरस्त कर दिया गया है।

टेलीवास्को कंपनी को दिया था ठेका
देखा जाए तो एमवायएच और सुपर स्पैशियलिटी हास्पिटल में ऐसे कई गंभीर मरीज भर्ती होते हैं, जिनकी बीमारी में सीटी स्केन (कंप्यूटराइज्ड टोमोग्राफी स्कैन) और एमआरआई(मैग्रेटिक रेसोनेस इमेजिंग स्कैन)की मशीन बहुउपयोगी साबित होती है। इस सुविधा को उपलब्ध कराए जाने के लिए चिकित्सा शिक्षा संचालनालय व्दारा दिसंबर २०२० में टेलीवास्को कंपनी को ठेका दिया गया था, लेकिन डेढ साल बाद यह टेंडर निरस्त कर दिया गया है।
फिर से निकाले जाएंगे  मशीनों के लिए टेंडर
बताया जाता है कि वास्को टेली रेडियोलाजी कंपनी व्दारा समय पर मशीनें नहीं लगाए जाने पर चिकित्सा शिक्षा संचालनालय ने इस संबंध में आदेश जारी कंपनी काठेका ही निरस्त कर दिया है। अब इसके लिए नए सिरे से टैेडर बुलाए जाएंगे। इस प्रक्रिया में लगभग चार माह का समय लग सकता है। इसके बाद मशीनें लगेंगी और कब मरीजों को सुविधा मिलेगी, जिसमें अच्छा-खासा वक्त लग सकता है। मतलब यह कि अभी और इंतजार करना होगा।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.