24 घंटें में यूक्रेन पर कब्जे के तैयारी

कई शहरों में भारी बमबारी, सैन्य ठिकानों पर हमला, 70 सैनिक मारे

मास्को/कीव। रुसी सेनाओं ने अब यूक्रेन पर हमले तेज कर दिए हैं। रात भर से रूक-रूक कर बमबारी की जा रह है। 24 घंटे में यूक्रेन पर कब्जे की तैयारी है। इसके लिए टैंक, तोप बख्तरबंद गाड़ियों से कीव की चारों तरफ से घेराबंदी कर दी है। अभी-अभी हुए हमलों में यूक्रेन के 70 सैनिक मारे गए है। इसके अलावा 345 नागरिक और 20 बच्चे भी मौत का शिकार हुए हैं। उधर यूक्रेन ने रूस के 4500 सौ सैनिक मारने का दावा किया है।
उधर अमेरिका ने रूस के मददगार बेलारूस को गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी है। रूस का हजारों सैनिकों का 64 किलोमीटर लम्बा काफिला कीव से मात्र 25 किलोमीटर पहुंच गया है। जिसमें 6 हजार से ज्यादा टैंक शामिल है। 6 दिन के हमले में अभी तक रूस के 96 टैंक पूरी तरह से तबाह हो गए हैं। रूसी सेनाओं के हमले में कीव के कई घरों में आग लग गई है। अभी तक यूक्रेन से 5 लाख से ज्यादा लोगों ने पलायन कर लिया है। रूस ने अब यूक्रेन पर फायनल अटेक की तैयारी शुरू कर दी है। उधर संयुक्त राष्ट्र परिषद ने शांति की बहाली के लिए बातचीत जारी है जहां रूस की ओर से कहा गया है कि यूक्रेन पर कब्जे की हमारी कोई योजना नहीं है।

रूसी सेना ने आज सुबह यूक्रेन के सैन्य ठिकानों पर हमला कर दिया, जिससे 70 सैनिक मारे गए हैं। अभी भी कीव और खारकीव के बीच हमले लगातार जारी हैं। रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध का आज छठवां दिन है। 64 किलोमीटर लम्बा रूसी सेना का काफिला लगातार आगे बढ़ता जा रहा है।
उधर संयुक्त राष्ट्र महासभा में शांति के लिए बातचीत जारी है। रूस की और से जारी बयान में कहा गया है कि यूक्रेन पर कब्जा करने का हमारा कोई इरादा नहीं है। अभी तक रूस के 96 टैंक तबाह हो चुके हैं। रूस-यूक्रेन के बीच छिड़ी जंग बढ़ती ही जा रही है। बेलारूस में सोमवार को दोनों देशों के बीच हुई वार्ता बेनतीजा रही है। इस बीच रूस ने परमाणु ट्रायड की तैयारी भी शुरू कर दी है। खबरों के मुताबिक, यूक्रेन की राजधानी कीव की ओर 84 किलोमीटर लंबा रूसी सैन्य काफिला बढ़ रहा है। इसकी सेटेलाइट तस्वीरें भी जारी हुई हैं। वहीं संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में इमरजेंसी डिबेट के पक्ष में 29 वोट पड़े हैं। भारत समेत 13 देशों ने इस वोटिंग में भाग नहीं लिया।
रूस-यूक्रेन के बीच पिछले पांच दिनों से जंग छिड़ी हुई है। राउटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की का कहना है कि, पिछले पांच दिनों में रूस ने यूक्रेन में 56 रॉकेट और 113 क्रूज मिसाइलें दागी हैं। उन्होंने कहा कि रूसी मिसाइलों, प्लेन और हेलीकॉप्टर के लिए नो फ्लाई जोन पर विचार करने का वक्त आ गया है।
ऑपरेशन गंगा के तहत, यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों को लेकर सातवीं फ्लाइट भी भारत पहुंच गई है। जानकारी के मुताबिक, मंगलवार सुबह 182 भारतीय नागरिकों को लेकर सातवीं फ्लाइट रोमानिया से मुंबई पहुंची। केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने मुंबई हवाई अड्डे पर भारतीय छात्रों का स्वागत किया।
अंतरिक्ष में इंटरनेशनल स्पेस सेंटर स्थापित करने के लिए नासा अब अकेले अपने अभियान को बढ़ाने जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक, रूस की मदद के बिना आईएसएस स्थापित करने के लिए नासा की ओर से तैयारियां भी शुरू कर दी गई हैं। दरअसल, पिछले दिनों अमेरिका की ओर से लगाए गए प्रतिबंधों के बाद रूसी स्पेस एजेंसी ने आईएसएस पर सहयोग रोकने की चेतावनी दी थी।
सैटेलाइट तस्वीरों में यूक्रेन की राजधानी कीव की ओर करीब 64 किलोमीटर लंबा सैन्य काफिला बढ़ता हुआ दिखाई दिया है। इस काफिले में सेना के ट्रक, बख्तरबंद वाहन, टैंक व सैनिक शामिल हैं। इससे पहले जारी हुई तस्वीरों में काफिले की लंबाई 27 किमी बताई गई थी। गौरतलब है कि, एक दिन पहले रूसी सेना ने आम नागरिकों से कीव छोड़ने को भी कहा था।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.