कुलकर्णी भट्टा पुल : अधिकारी गोलमोल जवाब देते रहे और 20 से अधिक अवैध दुकानें बिना अनुमति तन गई

8 से 10 लाख रुपए में एक दुकान बिकी निगम मार्केट विभाग में वर्षों से भारी गड़बड़ी

इंदौर। कुलकर्णी भट्टा पुल के आसपास सड़क चौड़ीकरण के लिए नगर निगम ने पिछले दिनों कई निर्माण तोड़े थे। यहां निगम का मार्केट भी था जिसमें दुकानें संचालित थी। यह दुकानें भी तोड़ दी गई थीं। अब यहां अवैध रूप से करीब दो दर्जन दुकानें बन रही हैं। जमीन को लेकर कहा गया है कि नेशनल टेक्सटाइल कार्पोरेशन (एनटीसी) के अधिन इस जमीन पर निर्माण की कोई अनुमति नहीं दी गई है। बताया गया है कि अवैध बन रही दुकानों को 8 से 10 लाख रुपए में बेच दिया गया। निगम के दो अपर आयुक्त से लेकर भवन अधिकारी, झोनल अधिकारी और मार्केट विभाग के अधिकारी गोलमोल जवाब दे रहे है।

शहर में वैसे तो कई स्थानों पर अवैध दुकानें, गुमटियां तन जाती हैं और निगम के अधिकारियों को कानोकान खबर नहीं होती है। मार्केट विभाग में वर्षों से भारी गड़बड़ी होती रहती है। हाल ही में कुलकर्णी भट्टा पुल के आसपास सड़क चौड़ीकरण के लिए रिमूव्हल कार्रवाई की गई थी। यहां निगम की दुकानें भी टूटी थीं। जमीन खाली होने के बाद यहां अवैध रूप से नई दुकानें बनने लगीं और अब छत डलने की बारी आ गई है। इधर अवैध दुकानों को लेकर निगम मार्केट विभाग के अपर आयुक्त भाव्या मित्तल से जब चर्चा की गई तो उन्होंने कहा कि मैं जानकारी लेकर ही कुछ कह पाउंगी, जबकि भवन अनुज्ञा के अपर आयुक्त संदीप सोनी ने कहा कि ब्रिज सेल के अनुप गोयल से चर्चा करें। वहीं झोनल अधिकारी उमेश पाटीदार, भवन अधिकारी पी.एस. कुशवाह ने भी संतोषजनक जवाब नहीं दिया। कुल मिलाकर एनटीसी की जमीन पर अवैध बन रही दुकानों के मामले में एक तरह से पूरा निगम ही अनभिज्ञ है। यहां निर्माणकर्ताओं ने 8 से 10 लाख रुपए में एक दुकान का सौदा भी कर लिया है और जल्द ही दुकानें शुरू हो जाएंगी।
सड़क चौड़ीकरण के लिए दर्जनों घर टूटे थे
जब रिमूव्हल किया गया था तब निगम का भारी भरकम अमला पुलिस बल के साथ यहां पहुंचा था। कालीमाता मंदिर से कुलकर्णी भट्टा पुल तक दर्जनों निर्माण तोड़ दिए गए। कई लोगों के मकान 15 से 20 फीट तक टूटे है। सड़क चौड़ीकरण को लेकर लंबे समय से काम चल रहा है। जबकि पुल पर यातायात भी शुरू नहीं हो सकता है। वर्षों बाद यह पुल बना है। अधिकारी हर बार कहते है कि जल्द ही पुल पर यातायात शुरू होगा लेकिन मिल क्षेत्र के लाखों लोगों को मध्य क्षेत्र में आने के लिए विश्रांति चौराहा या अन्य मार्गों से आना पड़ता है।
विधायक संजय शुक्ला विधानसभा में पूछेंगे सवाल
अवैध दुकानों के निर्माण के बारे में विधायक संजय शुक्ला का कहना है कि शहर में नगर निगम के अधिकारियों की मनमानी जोरों पर है। वहीं सत्ताधारी पार्टी के नेताओं, कार्यकर्ताओं की भी मिलीभगत होती है। कुलकर्णी भट्टा पुल के पास बन रही दुकानों को लेकर विधानसभा में सवाल पूछा जाएगा। श्री शुक्ला ने इससे पहले भी शहरहित को लेकर कई मुद्दे विधानसभा में उठाए, जिसमें कईयों में सरकार संतोषजनक जवाब नहीं दे पाई।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.