इंदौर के कांग्रेस के पूर्व विधायक से यूपी में मारपीट

आरोपित चारों पदाधिकारियों को पार्टी से निष्कासित

इंदौर। इंदौर से उत्तरप्रदेश कांग्रेस का प्रचार करने गए दो बार विधायक रह चुके सत्यनारायण पटेल के साथ वहां के नेताओं द्वारा मारपीट करने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि पटेल के साथ मारपीट करने वालों को कांग्रेस के इन नेताओं को पार्टी से निष्काषित कर दिया गया है।
कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव व इंदौर से दो बार विधायक रह चुके सत्यनारायण पटेल के साथ मारपीट करने वाले यूपी के जिलाध्यक्ष व तीन अन्य पदाधिकारियों को पार्टी ने 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। पटेल के साथ मारपीट 4 फरवरी को गेस्ट हाउस में हुई थी। हालांकि आरोपियों का कहना है इस तरह की कोई बात नहीं हुई और वे अपना पक्ष सोनिया गांधी के समक्ष रखेंगे। पटेल 4 फरवरी को बलरामपुर जिले में थे। यहां सरस्तवी गेस्ट हाउस में टिकट बंटवारे को लेकर बैठक चल रही थी, जिसमें अनुजसिंह, अख्तर हुसैन, विनय मिश्रा व सेवादल के अध्यक्ष दीपक मिश्रा मौजूद थे। टिकट वितरण के संबंध में पटेल का जो मत था वे इन लोगों को पसंद नहीं आया। बात जब काफी थे आगे बढ़ गई तो इन चारों ने मिलकर उनके साथ मारपीट की व अन्य अभद्र हरकत की। इस बात की शिकायत जब कांग्रेस आलाकमान के पास पहुंची तो उसने इन चारों पदाधिकारियों को पार्टी से निष्कासित करने में ज्यादा देर नही लगाई।
दरअसल, इस विवाद के बाद सतनारायण पटेल का गांधी परिवार में क्या महत्व है,इसका पता चला। सोनिया और राहुल गांधी के भी संज्ञान में यह घटना आई इस घटना के बाद तुरंत प्रियंका गांधी ने सत्यनारायण पटेल से संपर्क किया और दोषियों को तुरंत कांग्रेस से बाहर किया गया। यही नहीं सत्तू पटेल को उत्तर प्रभारी घोषित किया गया और स्टार प्रचारकों की सूची में उनका नाम शामिल किया गया है। पटेल की प्रचार शैली से प्रियंका गांधी भी प्रभावित हुई हैं। तकरीबन रोज उनकी बातचीत प्रियंका गांधी से होती है। मालवा-निमाड़ में उमंग सिंघार और जीतू पटवारी के बाद सत्तू पटेल तीसरे नेता हैं जिन्हें किसी प्रदेश में सह प्रभारी की जवाबदारी दी गई। जीतू पटवारी 2017 के चुनाव में अशोक गहलोत के सहयोगी के रूप में सह प्रभारी थे। इसी तरह उमंग सिंघार झारखंड चुनाव में कांग्रेस के सह प्रभारी रहे हैं। उमंग सिंघार और जीतू पटवारी दोनों ही राहुल गांधी के सीधे संपर्क में हैं। अब पटेल भी इसी हैसियत में आ से गए हैं और सीधे प्रियंका गांधी तक एप्रोच रखते हैं।
इस संबंध में दैनिक दोपहर ने पूर्व विधायक सत्यनारायण पटेल से बात करना चाही, मगर उनसे सम्पर्क नहीं हो सका।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.