सावधान : 2 लाख के करीब संक्रमित, 442 की मौत

कोरोना का आठ महीने बाद देशभर में सबसे बड़ा कहर

नई दिल्ली (ब्यूरो)। देशभर में आठ महीने बाद एक बार फिर कोरोना ने सबसे बड़ा कहर बरपाया है। बीते 24 घंटों में 1,94,720 याने दो लाख के करीब नए संक्रमित निकले हैं। वहीं 442 लोगों की जान गई है जो अभी तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। 9,55,000 लोग अभी भी अस्पतालों में इलाजरत हैं। संक्रमण की दर बढ़कर 11.05 फीसदी तक पहुंच गई है जो सर्वाधिक घातक बताई जा रही है। यदि लोग सावधान नहीं रहे और भीड़ पर काबू नहीं पाया गया तो फरवरी के बजाय इसी महीने के अंत तक महामारी पीक पर आ सकती है।
इधर मध्यप्रदेश के इंदौर में भी सात महीने बाद सर्वाधिक 1100 से ज्यादा नए संक्रमित मिलने के बाद पूरे प्रदेश में दहशत फैल गई है। इसी के चलते आज मध्यप्रदेश सरकार ने विवेकानंद जयंती पर होने वाला सबसे बड़ा आयोजन सामूहिक सूर्य नमस्कार का भी रद्द कर दिया है। उधर दिल्लीवालों के लिए जल्द ही राहत मिल सकती है। राजधानी में कोरोना की पांचवीं लहर के पीक पर पहुंच जाने के संकेत अब दिखाई देने लगे हैं। बीते 11 दिन में कोरोना का संक्रमण दो-दो बार घटा बढ़ा है। इसके आधार पर गणितीय विशेषज्ञ अगले एक सप्ताह के अंदर कोरोना का ग्राफ नीचे आने का अनुमान लगा रहे हैं। हालांकि, चिकित्सीय और महामारी विज्ञान विशेषज्ञ इसे अलग नजरिए से देख रहे हैं। कोरोना महामारी को तीन अलग अलग क्षेत्र गणितीय मॉडल, चिकित्सा व महामारी विज्ञान के नजरिए से समझने के लिए ‘अमर उजालाÓ ने विशेषज्ञों से बातचीत की तो पता चला कि दिल्ली में आगामी 20 जनवरी तक पीक आ सकता है। इसके बाद कोरोना का ग्राफ नीचे जाने लगेगा। फिर, अगले दो से तीन हफ्तों में हालात सामान्य हो सकते हैं। स्वास्थ्य सांख्यिकी विशेषज्ञ डॉ. शंशाक ने बताया कि हर दिन संक्रमण बढ़ोतरी के ग्राफ पर गौर करने से एक ऐसा ट्रेंड देखने को मिलता है जो अगले छह से सात दिन में पीक स्पष्ट होने के संकेत दे रहा है। उन्होंने इस ट्रेंड को समझाया कि तीन सप्ताह से दिल्ली में कोरोना बढ़ रहा है। इस बीच इस साल के 11 दिनों के बीच संक्रमण में दो-दो बार उछाल व कमी दोनों आई है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.