अब दुकानों पर बंदिशें लगेगी

शनिवार-रविवार को बंद रखने पर करेंगे फोकस


इंदौर। नववर्ष के आगमन के साथ ही कोरोना संक्रमण की भयावहता सामने आने लगी है। लगातार मरीजों का आंकड़ा चिंता का कारण बनता जा रहा है। तीसरी लहर कितना कहर ढा सकती है, इसका उदाहरण मात्र 4 दिन में दिखने लगा है। साढ़े पांच सौ मरीज सामने आ गए हैं। कल क्राइसेस मैनेजमेंट की बैठक में सभी बड़े आयोजनों तथा विवाह समारोह पर रोक के सुझाव मिल गए थे। प्रशासन और जनप्रतिनिधियों के सुझाव पर शासन एक-दो दिन में सहमति दे सकता है।
इसके बाद संक्रमण में कुछ कमी आ सकती है। इसी बीच, अब दुकानों पर बंदिशें लगाने की प्रक्रिया शुरू होगी। संभवतया शनिवार या रविवार को दुकानें बंद करने का निर्णय प्रशासन ले सकता है। हालांकि, अभी लॉकडाउन पर सरकार का फोकस नहीं है। दिसम्बर माह की शुरूआत से धीरे-धीरे बढ़ता हुआ संक्रमण तिहरे शतक की ओर आ गया। संक्रमण रोकने प्रशासन अपने स्तर पर कड़े कदम उठा रहा है। इसके बावजूद सफलता हासिल नहीं हो रही है। स्वास्थ्य विभाग, निगम, जिला प्रशासन, पुलिस आदि मैदानी अमले के साथ जुट गए हैं। सभी संगमत होकर तीसरी लहर का कड़ाई से मुकाबला कर रहे हैं। अस्पतालों, राधा स्वामी सेंटरों पर व्यवस्थाएं जुटा ली गई है। मरीज बढ़ते ही अस्पतालों में उन्हें बेहतर उपचार की तैयारी की जा रही है। वर्तमान में होम आइसोलेशन पर जोर दिया जा रहा है। कल क्राइसेस मैनेजमेंट की बैठक में सुझाव के बाद आज सुबह जब मरीजों का आंकड़ा कल की अपेक्षा दोगुना दिखा तो प्रशासन फिर सजग हो गया। राधास्वामी कोविड सेंटर पर अगले एक-दो दिन में मरीजों को भर्ती करने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। सेंटर के प्रभारी विवेक श्रोत्रिय ने मातहतों के साथ सेंटर का बुधवार को निरीक्षण किया।
व्यवस्थाओं को लेकर घनघनाने लगे फोन
सुबह जब समाचार पत्रों के माध्यम से जनप्रतिनिधियों और प्रशासनिक अधिकारियों ने व्यवस्थाओं को लेकर फोन घनघनाना शुरू कर दिए। फोन पर अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों ने आगे की रणनीति पर एक बार फिर गंभीरता से विचार करने की बात कही है।
कल करेंगे मंथन
संक्रमण बढ़ने के बाद आज प्रशासन अस्पतालों का निरीक्षण करेगा। लोगों को मास्क के प्रति जागरूक करेगा। बड़े पैमाने पर सेम्पलिंग होगी। लोगों के घर-घर जाकर जांच की भी तैयारी की जा रही है। इसके बाद भी कल 6 जनवरी को मरीजों का आंकड़ा बढ़ा तो नए सिरे से क्राइसेस मैनेजमेंट की बैठक में ओर कड़े निर्णय लिए जा सकते हैं।
दुकानदारों ने बनाया मन
शनिवार-रविवार को दुकानें कितने घंटे बंद रहेगी, पूरे दिन रहेगी या किसी एक दिन रहेगी, इसे लेकर बाजार में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है। वैसे व्यापारी रविवार को दुकान बंद करने पर सहमत होते नजर आ रहे हैं। उधर, कुछ व्यापारियों ने अगले रविवार से अपने प्रतिष्ठान बंद रखने पर विचार करन शुरू कर दिया है। वे भी संक्रमण बढ़ने से उनका कारोबार आने वाले दिनों में कमजोर होने लगेगा। क्योंकि, ग्राहक भीड़ से बचने बाजार का रुख कम ही करेंगे।

बांट दी पत्रिकाएं, अब मना करेंगे मेहमानों को
शादी समारोह में 200 मेहमानों को बुलाने पर जनप्रतिनिधियोंं ने सुझाव दिए हैं। सुझाव पर शासन इसी सप्ताह स्वीकृति देगा। सुबह जब वैवाहिक समारोह के आयोजकों को सुझावों की जानकारी मिली तो वे चिंतित होने लगे। जिन आयोजकों के यहां जनवरी माह में शादी समारोह हैं, उन आयोजकों ने पत्रिकाएं बांट दी है। सुझाव पर शासन की टीप आ गई तो मेहमानों को फोन लगाकर कोरोना संक्रमण का हवाला देकर मना किया जाएगा।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.