लालबाग पैलेस में ठेकेदार अधूरा काम छोड़ कर भागा

दो साल में स्मार्ट सिटी कंपनी नहीं कर पाई संवारने का काम

इंदौर। शहर में ऐतिहासिक धरोहर सवारने का काम जारी है, जिसमें लालबाग पैलेस भी शामिल है, लेकिन अफसरों का ध्यान नहीं देने से यहां ठेकेदार कंपनी की मनमानी जारी है। ठेकेदार ने यहां री डेवलपमेंट करने के लिए होलकर कालीन ड्रेनेज लाइन व उद्यान महल के पुराने पत्थर उखाड़ दिए है, जिससे ऐतिहासिक धरोहर को नुकसान तो हुआ है साथ में पर्यटक भी आना बंद हो गए है।
लालबाग पैलेस परिसर को स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत लगभग 1 करोड़ 6 लाख में संवारने का काम किया जा रहा है। वर्ष 2020 में काम शुरू हुआ था, जिसमे गड्ढे खोदकर नई ड्रेनेज लाइन के लिए काम शुरू किया और कुछ दिन बाद बंद हो गया। ठेकेदार ने तब से यह काम उसी स्थिति में छोड़ दिया। महीनो बीत जाने के बाद भी न ही ठेकेदार ना ही निगम और स्मार्ट सिटी के जिम्मेदार अधिकारी इस मामले में ध्यान दे दे रहे है। हालत यह है कि अब पर्यटकों ने भी यहां आना बंद कर दिया है, दिनभर में इक्के दुक्के पर्यटक ही आ रहे हैं, जिससे पुरातत्व विभाग की आमदनी भी घट गई है।
गौरतलब है कि लंदन के पेलेस की तर्ज पर बने होलकर कालीन लालबाग पैलेस को देखने के लिए देश विदेश के कई पर्यटक आते है।
स्मार्ट सिटी अधिकारियों को पत्र लिखकर जल्द ठेकेदार से काम करने के लिए आग्रह किया है। परिसर में खुदाई कर इस ही छोड़ देने से कीचड़ और गंदगी के ढेर लगे है, जिससे पर्यटक भी नहीं आ रहे हैं।
प्रभारी डीपी पांडे, लालबाग प्रभारी
लॉकडाउन के कारण काम में रुकावट आई थी, ठेकेदार को निर्देश देकर लालबाग परिसर को संवारने का काम जल्द शुरू किया जाएगा। आने वाले 2 से 3 महीने में इसे पूरा किया जाए।
ऋषव गुप्ता, स्मार्ट सिटी सीईओ

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.