निमाड़ के तस्कर शहर में खपा रहे स्प्रिट की बनी नकली शराब

लगातार मौतों के बाद पुलिस की कार्रवाई में खुलासा, बसों में पार्सल के जरिए भेजते थे, ब्रांडेड शराब की बोतलों के ढक्कन, रैपर और होलोग्राम इंदौर से जाते थे

इंदौर। नकली शराब पीने से एक के बाद एक हुई मौतों के बाद जहां अब जाकर आबकारी विभाग और पुलिस नींद से जागकर तस्करों की धरपकड़ करते हुए अवैध शराब बरामद करने में जुटे हैं। वहीं इस मामले की जांच में पुलिस को पता चला कि निमाड़ के खंडवा, बुरहानपुर और खरगोन के तस्कर इंदौर सहित आसपास के शहरों में स्प्रिट से बनी नकली शराब जमकर खपा रहे हैं। इसके लिए इंदौर से बोतलों के ढक्कन, रैपर और होलोग्राम पहुंचाए जाते थे। इंदौर में हुई मौतों के बाद खरगोन और बुरहानपुर पुलिस ने कुछ तस्करों को गिरफ्त में भी लिया है। उधर, शहर में भी आबकारी और पुलिस ने अलग-अलग स्थानों पर तस्करों की धरपकड़ की है।
नकली शराब शहर में बिकने का पता चलने के बाद पुलिस ने जांच करते हुए पता लगा लिया है कि निमाड़ के खंडवा, खरगोन और बुरहानपुर से नकली शराब शहर में आ रही है। यही नकली शराब आसपास के शहरों में भी तस्करों द्वारा कम कीमत पर सप्लाई की जा रही है। इस शराब को बनाने के लिए इंदौर से रॉयल स्टैग और ब्लैंडर प्राइड के ढक्कन, रैपर और होलोग्राम पहुंचाए जाते थे। इस मामले में बुरहानपुर पुलिस ने दबिश देकर एक युवक को गिरफ्त में भी लिया है। वहीं खरगोन पुलिस ने भी तीन को तस्करों को पकड़ा है।
शहर के विभिन्न क्षेत्रों में सिलसिलेवार हुई पांच युवकों की मौत के मामले में नकली शराब सामने आई है। शुक्रवार को गांधीनगर में भी 40 वर्षीय विश्मभरसिंह की भी मौत हो गई। उधर, प्रॉपर्टी ब्रोकर तरुण रिझवानी को गंभीर अवस्था में भर्ती किया गया है। प्रेमनगर के कॉस्मेटिक व्यवसायी की मौत में भी नकली शराब का शक जताया जा रहा है। इन मामलों के सामने आने के बाद शुक्रवार को पश्चिम क्षेत्र के एसपी महेशचंद जैन को तस्करों से खरीदी शराब न पीने की अपील करना पड़ी। एसपी के मुताबिक जानकारी मिली कि साधुवासवानी नगर(जूनी इंदौर) निवासी प्रॉपर्टी कारोबारी तरुण रिझवानी की भी नकली शराब के कारण तबियत बिगड़ी और निजी अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। तरुण ने 27 जुलाई को पंचशीलनगर निवासी बंटी सुगवानी से एक बोतल शराब खरीदी थी। दोपहर को भंवरकुआं थाना पुलिस ने बंटी को हिरासत में ले लिया। पूछताछ में बंटी ने बताया वह जयरामपुर के एक तस्कर से शराब खरीद कर होम डिलीवरी करता था। जूनी इंदौर थाना पुलिस ने उसके विरुद्ध जहरीली शराब और मानव वध के प्रयास का प्रकरण दर्ज कर लिया।
कमीशन पर पहुंचाते थे बोतल
देर शाम तस्करों की तलाश में छापे मारे लेकिन आबकारी विभाग द्वारा हुई कार्रवाई की खबर सार्वजनिक हो गई और घरों से फरार हो गए। हालांकि तीन युवकों को हिरासत में ले लिया जो कमिशन लेकर शराब की बोलतें पहुंचाने का काम करते है। उधर, एसपी जैन ने यह भी बताया कि अब तक की जांच में खुलासा हुआ है कि खंडवा के किसी कालिकाप्रसाद द्वारा शहर में नकली रॉयल स्टैग शराब सप्लाई की जाती थी। वहीं बुरहानपुर पुलिस को निर्देश मिलने के बाद मनीष नामक युवक को गिरफ्त में लिया गया है, जो बसों में पार्सल के रूप में शराब भेजता था।
पबों में शराब पहुंचाने वाला पकड़ाया
पुलिस को जांच में यह भी पता चला कि सपना और पैराडाइज बार के संचालकों ने अधिकृत दुकान की जगह तस्करों से नकली शराब खरीदी थी उन तस्करों के तार खरगौन और बुरहानपुर से शराब तस्करों से जुड़े है। पुलिस ने मुख्य सप्लायर पंकज सूर्यवंशी को बाणगंगा के वाल्मिकीनगर से पकड़ लिया है। उसने कहां-कहां शराब बेची इसकी तस्कीद की जा रही है।
कम कीमत में मिल जाती है
एसपी(पश्चिम) महेश चंद जैन के मुताबिक पैराडाइज बार एंड रिसॉर्ट के संचालक जोगी उर्फ योगेश यादव व सपना बार के संचालक विकास बनेडिय़ा शुक्रवार को पूछताछ में टूट गए। आरोपितों ने बताया नजदीकी दुकान के अलावा तस्करों से भी शराब खरीदते थे। दुकान पर 1070 रुपये में मिलने वाली शराब की बोतल तस्कर 800 रुपये तक में देते थे। एसपी के मुताबिक जोगी और विकास ने वाल्मिकी नगर के पंकज का नाम बताया है।
स्प्रीट और अन्य सामाान किया बरामद
पंकज बंटी नामक तस्कर से शराब खरीद कर सप्लाई करता था। बंटी के बारे में जानकारी मिली कि वह मांधता खंडवा के कालका प्रसाद से जुड़ा था। कालका लक्की उर्फ गौरव और रोहित निवासी सनावद जिला खरगोन के तस्करों के साथ मिलकर नकली शराब तैयार करता था। खरगोन पुलिस ने इन तीनों तस्करों को अंग्रेजी शराब के नकली टैग,ढक्कन,बॉक्स पेपर,स्टीकर,होलोग्राम,हैंड होल्डिंग मशीन,स्प्रीट व अन्य सामग्री के साथ गिरफ्तार किया है।
महिला सहित दो पकड़ाए
जहरीली शराब के हुई मौतों के बाद जिलें में शराब तस्करों के ठिकानों पर छापे मार कार्रवाई शुरू हो गई है। राजेंद्रनगर थाना पुलिस ने शुक्रवार को निहालपुर मुंडी में छापा मारा और आरोपी विकास पिता बाबूलाल चौहान और रेखा पति घनश्याम जाटवा को गिरफ्तार किया है। टीआइ अमृता सोलंकी के मुताबिक आरोपित महुआ गला कर कच्ची शराब तैयार करते थे। पुलिस ने आरोपितों महुआं बताने से इन्कार कर दिया। मुखबिर की सूचना पर एएसआइ राजेंद्र,प्रआ महेंद्र व इंदौर ने आंगन में खोदाई कर 100 लीटर महुआ भी जब्त कर लिया।
एसपी का वीडियो तस्कर को भेजा
जहरीली शराब बेचने के आरोप में गिरफ्तार बंटी के मोबाइल की जांच की तो एसपी महेश चंद का एक वीडियो मिला जो दोपहर को ही मीडिया को दिया था। एसपी ने शराब दुकाने के अतिरिक्त बाहर से शराब न खरीदने की अपील करते हुए कहा था कि शहर में नकली शराब बिक रही है। बंटी ने यह वीडियो उस तस्कर को भेजा था जिससे शराब खरीदता था।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.